अपराध करके हस रहा था पूर्व सांसद अतीक.. अचानक चेहरे का भाव बदला जब याद आया कि अब प्रदेश में योगी सरकार है… हुआ गिरफ्तार


 

जिस तरह से नरेंद्र मोदी केंद्र में अपराधियों पर लगातार सिकंजा कसते जा रहे हैं ठीक उसी नक़्शे कदम पर उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ चल रहे हैं. और मुकाम बस एक जल्द से जल्द प्रदेश को सुरक्षित और अपराधी मुक्त उत्तर प्रदेश और भारत बनाना। आपको बता दें कि इसी संकल्प के तहत अपरधियों का एनकाउंटर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद बढ़ गया हैं और लगातार अपरधियों के ऊपर दबिश बनाई जा रही हैं।

अतीक अहमद प्रदेश के अपराध और राजनितिक जगत में बड़ा नाम हैं। एक समय में बाहुबली रह चूका हैं अतीक अहमद पर अब उसके बुरे दिन शुरू हो गए हैं।

मरियाडीह में दो साल पहले हुए आबिद प्रधान की बहन अलकमा और ड्राइवर जितेंद्र पटेल की हत्या का षड्यंत्र रचने के आरोप में सीजेएम अदालत ने पूर्व सांसद अतीक अहमद के खिलाफ बी वारंट जारी कर दिया है। अब अतीक अहमद को सीजेएम अदालत में पेश होना हैं। अदालत ने अतीक को न्यायिक रिमांड पर पेश करने के आदेश किए हैं। हालांकि, अदालत की ओर से न्यायिक रिमांड पर लेने के बारे में अभी कोई तारीख तय नहीं की गई है।

आपको बताते चले की दो साल पहले 25 सितंबर का को मरियाडीह में एक गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग हुई थी, जिसमें प्रधान आबिद की बहन अलकमा और ड्राइवर जितेंद्र पटेल की मौके पर मौत हो गई थी। इस दोहरे हत्याकांड में आबिद प्रधान की ओर से पांच लोगों को नामजद किया गया था। इस हत्याकांड में अतीक और उनके भाई अशरफ को हत्या के षड्यंत्र में शामिल किया गया था।
गौरतलब हो की इसी मामले में जुल्फिकार उर्फ तोता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

वहीं सीजेएम अदालत ने ऑनर किलिंग में शामिल आबिद प्रधान, अकरम, ऐजाज सहित 12 के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिए हैं। ये आरोपी फरार चल रहे हैं।
अतीक अहमद के पाप के घड़े भर गए हैं। जल्द ही बाकी पापियों की तरह इनका भी हिसाब होगा।

* photo sanketik hain      


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share