Breaking News:

किसान का 13 रूपये कर्ज माफ़ हुआ तो वो कमलनाथ से बोला- “रख लो इतना पैसा, इतना तो मेरा बीड़ी का खर्च है”

मध्यप्रदेश में किसानों की कर्जमाफी के वादे के साथ सत्ता में आई कांग्रेस के वादे तथा उसको पूरा करने के दावे की हकीकत में झोल नजर आने लगा है. कमलनाथ सरकार कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ भद्दा मजाक कर रही है. कमलनाथ सरकार ने वादा किया है कि वह किसानों का 2 लाख रूपये तक का कर्ज माफ़ करेगी लेकिन कर्जमाफी की जो लिस्ट सामने आई है, उसमें किसी का 5 रूपये तो किसी का 13 रूपये कर्ज माफ़ किया गया है. 13 रूपये कर्ज माफ़ होने पर किसान मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भड़क उठा तथा कहा कि इतने रूपये की तो वह बीड़ी पी जाता है.

बता दें कि कमलनाथ सरकार की किसान कर्ज माफी से मध्य प्रदेश के किसान बेहद परेशान नजर आ रहे हैं. कमलनाथ सरकार जय किसान ऋण मुक्ति योजना के तहत किसान कर्ज माफी के फॉर्म भरवा रही है, लेकिन इस दौरान कर्जमाफी की जो सूची सरकारी दफ्तरों में चिपकाई जा रही है उसने किसानों को परेशान कर दिया है. प्रदेश के ऐसे कई किसान हैं, जिनका महज 5 रुपये से लेकर 232 रुपये तक का ही कर्ज माफ हुआ है, जबकि उन पर लाखों का कर्ज बकाया है. इसको लेकर नाराज किसानों ने कहा, ‘जितने रुपये का कर्ज हमारा माफ किया जा रहा है, उतने रुपये की तो हम बीड़ी पी जाते हैं.’ किसानों का कहना है कि सबसे बड़ी दिक्कत सरकारी बैंकों में आ रही है, क्योंकि यहां कर्जमाफी की सूची अंग्रेजी में लगी हुई है.

मध्य प्रदेश के किसान कह रहे हैं कि उन्हें कर्ज माफी के लिए लगातार बैंकों और सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं. वहां के एक किसान शिवपाल ने कहा कि सरकार जितने रुपए का कर्ज माफ कर रही है उतने की तो हम बीड़ी पी जाते हैं. सरकार को यदि कर्ज माफ करना ही है तो पूरा कर्ज माफ करना चाहिये. उन्होंने कहा कि उनके ऊपर 20 हजार से ज्यादा का कर्ज है. किसान रतन लाल महाजन का कहना है कि उन्होंने 2 साल से कोई कर्ज नहीं लियाफिर भी उनके नाम के आगे 180 रु. कर्जमाफी लिखा है. हमीद खां जो मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा से हैं, उनके ऊपर 10000 रुपये का कर्ज है लेकिन माफ हुए हैं मात्र 232 रुपये.

Share This Post