भाजपा और हिन्दू संगठनों के प्रबल विरोध के बाद कांग्रेस सरकार को वापस लेना पड़ा एक ऐसा फैसला जिसमे बगल बगल बिकते दूध और मांस

कुछ समय पहले की ही बात है जब कर्नाटक में कांग्रेस सरकार हुआ करती थी .. तब वहां मुख्यमंत्री सिद्धारमैया हुआ करते थे और उन्होंने एक बार मांस खा कर मन्दिर का दर्शन किया था जिस पर विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने बहुत हंगामा किया था . यद्दपि भाजपा का ये शोर अंत में जनता की आवाज बन गया जिसको सिद्धारमैया ठीक से पहिचान नहीं पाए और हिन्दू समाज के आक्रोश के चलते उनको आगे विधानसभा चुनावों में भारी पराजय का मुह देखना पड़ा था ..

फिर भी कांग्रेस ने कर्नाटक में हिन्दुओ के हत्यारे टीपू सुल्तान का महिमामंडन नहीं छोड़ा था जिसका प्रतिफल आज सबके सामने है . लेकिन कमलनाथ जनता के आक्रोश को पहले से ही भांप गये .. मध्य प्रदेश सरकार का एक ऐसा आदेश आखिरकार वापस हो रहा है जहाँ एक ही साथ एक बगल गाय का दूध और मुर्गे का मांस बिकने वाला था…इस निर्णय की जानकारी जैसे ही हिन्दू संगठनो और भाजपा को हुई वैसे ही शुरू हो गया इसका व्यापक विरोध और आखिरकार कमलनाथ सरकार को पीछे हटना पड़ा ..

जब इस योजना की शुरुआत की गई थी तो सरकार का दावा था कि उसके पार्लर में मिलने वाले चिकन और गाय के दूध की शुद्धता की पूरी गारंटी रहेंगी. लेकिन भाजपा ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई थी. भाजपा से जुड़े कई स्थानीय नेताओं का कहना है कि इससे लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचेगी. भाजपा के नेताओं का कहना था कि सरकार को किसी भी विषय पर निर्णय लेने से पहले देखना चाहिये कि उनका क़दम किसी धर्म के ख़िलाफ़ तो नहीं है.

जैन समाज से ताअल्लुक़ रखने वाले रविंद्र जैन भी इसके ख़िलाफ़ थे. उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिये मुहिम चलाई थी. उन्होंने सरकार से सवाल किया, “क्या आपको मप्र की जनता ने इसीलिए चुना था कि आप दूध की दुकानों से कड़कनाथ मुर्ग़े का चिकन बेचें? यह सब तब हो रहा है जब आपकी सरकार महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती मनाने का ढोंग कर रही है.”अब सरकार ने आदेश निकाल कर अपने निर्णय को बदल दिया है. अब चिकन और दूध दोनों ही अलग पार्लर से बेचे जायेंगे और दोनों अलग-अलग स्थान पर होगें.

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –

http://sudarshannews.in/donate-online/

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW