चुनाव आयोग ने बदजुबान आजम की जुबान पर लगाया ताला.. क़ानून ने रौंदा गैरकानूनी कृत्य को और आजम खान पर दर्ज हुई FIR

अपनी जहरीली बयानबाजी के लिए बहुत ज्यादा जाने जाने वाले आजम खान के लिए चुनाव से पहले ही एक बुरी खबर आई है . आज़म खान ही नहीं बल्कि उनकी पूरी लॉबी ही जहरीली बयानबाजी के लिए जानी जाती रही है . अभी उनके ही एक सहयोगी ने कहा था कि जल्द ही रामपुर में प्रशासनिक अधिकारियो की लाशें गिरेगी , यद्दपि उनके ऊपर भी पुलिस ने कार्यवाही की थी .

“इस से भी ज्यादा अच्छे दिन क्या लोगे, स्कर्ट पहनने वालीं अब साडी पहनने लगीं” – जयकरण गुप्ता, BJP.. किस के लिए है ये बयान ?

सरकारी जमीनों को घेर कर उस पर अवैध कब्जा करने वाले आजम खान के खिलाफ इस बार मुकदमा खुद कांग्रेस के नेता ने दर्ज करवाया था .. मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार कांग्रेस के नेता फैसल लाला ने की शिकायत के बाद महागठबंधन प्रत्याशी आजम खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 (1) (बी), 505 (2) और 125 लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. ये FIR अखिलेश और मायवती के लिए भी झटका है क्योकि आज़म को अपना स्टार प्रचारक मान रहे थे .

क्या इस बार भी माँगा जाएगा सबूत ? पाकिस्तान ने खुद जारी की अपने उन सैनिको की फोटो जिन्हें मार गिराया भारत की फ़ौज ने. देखना चाहेंगे आप भी ?

महागठबंधन उम्मीदवार और सपा सरकार में मंत्री रहे आजम खान पर भड़काऊ भाषण देने में एफआईआर दर्ज की गई है. आजम खान ने बयान में डीएम सहित चार अफसरों पर तेजाब डालकर जलाने का आरोप लगाया था. आजम खान ने कहा कि ये जिन-जिन जिलों में रहे है, इन्होंने कमजोरों को तेजाब डालकर जलाया है.आजम खान के 29 मार्च 2019 को सपा कार्यालय पर दिए गए भाषण की वीडियो क्लिप भी भेजी गई है , जिसके बाद पुलिस ने मामले को दर्ज किया.

उनका प्रत्याशी ढा रहा सरदारों पर कहर तो पार्टी मुखिया ने खुद को घोषित कर दिया प्रभु श्रीराम के बराबर

Share This Post