Breaking News:

अदालतों ने भी कड़ा किया अपना रुख .. इस्लामिक आतंकी समूह सिमी के 5 आतंकियों को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सज़ा

आतंक के ऊपर चौतरफा वार भारत की सरकार द्वारा किया जा रहा है जिसमे सेना अपना महत्वपूर्व रोल अदा कर रही है लेकिन इसी के साथ देशवासियों के लिए एक सुखद समाचार ये भी है कि आतंक को पस्त करने के लिए और समाज को शांत और सुरक्षित बनाये रखने के लिए अब भारत की अदालतों ने भी कमर कस लिया है .

ज्ञात हो कि जिन सिमी के आतंकियों के लिए कभी हुई थी बहुत ज्यादा राजनीति अब उन्ही दुर्दांत आतंकियों को अदालत ने दी है सजा और खामोश कर दिया है स्वरचित सेकुलरिज्म के सिद्धांतो पर आतंकियों की पैरवी करने वाले उन तमाम कथित बुद्धिजीवियों को .. मध्य प्रदेश की एक अदालत ने सिमी के 5 कुख्यात आतंकियों को उनकी अंतिम सांस तक जेल में रहने का फैसला सुनिया है . कभी इन आतंकियों के इरादे बेहद खतरनाक थे जिसके चलते इनको राष्ट्रद्रोही माना जा रहा है .

भोपाल की विशेष अदालत ने भोपाल सेंट्रल जेल में बंद सिमी के पांच आतंकियों को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई है।कोर्ट ने चार अलग-अलग धाराओं में आतंकी अब्दुल अजीज, अब्दुल वाहिद, जावेद नागौरी, जुबेर, मोहम्मद आदिल को उम्रकैद की सजा के साथ दो-दो हज़ार रुपए का जुर्माना भी लगाया है।एटीएस ने वर्ष 2014 में सिमी के इन आतंकियों के पास विस्फोटकों का बड़ा ज़ख़ीरा बरामद किया था। जनवरी 2014 में एटीएस ने उज्जैन से सिमी आतंकी जावेद नागौरी, अब्दुल अजीज, मोहम्मद आदिल और अब्दुल वहीद को गिरफ्तार किया था।ये सभी सिमी सरगना अबू फैजल के साथी थे।

 

Share This Post