पहली बार इतिहास में कांवड़ियों के लिए बरती जा रही है इतनी सुरक्षा. योगी राज में जल, थल, वायु हर कहीं सुरक्षा…

हम आतंकियों की हमलों से नहीं पीछे मुड़ने वाले, हमें अपने देवों के देव महादेव पर पूरा भरोसा है। इसका उदहारण खुद है समस्त हिन्दू समुदाय के लोग। अनंतनाग में श्रद्धालुओं से भरी बस पर आतंकी हमला होने के बाद भी, श्रद्धालुओं की हिम्मत पर कोई असर नहीं हुआ और अमरनाथ यात्रा को जारी रखा। लेकिन सवाल यह है कि हम कब तक ऐसे हमलों का शिकार होते रहेंगे? हमे अपने ही देश में इतनी सख्त सुरक्षा की जरूरत पड़ रही है।

बता दें कि कांवड़ यात्रा को संपन्न होने में अब केवल दो ही दिन शेष बचे है। जैसा कि सुरक्षा एजेंसियों ने कांवड यात्रा के दौरान उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में आतंकी घटना होने की संभावना जताई थी, उसको मद्देनजर अंतिम दो दिनों में उमड़ने वाली कावड़ियों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतेजाम किए गए है और हैलीकॉप्टर से कांवड़ यात्रियों की निगरानी की जा रही है।
बुधवार की सुबह से ही जिलाधिकारी पीके पांडे और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार हैलीकाप्टर में सवार होकर कांवडियों की निगरानी कर रहे है। इन अधिकारियों के अलावा अन्य पुलिस अधिकारी भी हैलीकाप्टर से कांवड़ियों की गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं। सहारनपुर जिले की विभिन्न सड़कों से हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, जम्मू कश्मीर और राजस्थान के कांवड़िएं गुजरते हैं। सहारनपुर से अब तक 15 लाख कांवड़ियां गुजर चुके है और अंतिम दो दिनों में यह संख्या 25 लाख होने की संभावना है।
Share This Post

Leave a Reply