महेंद्र मौर्य को चाय में नशा दिया गया, जब होश आया तब तक हो चुका था खतना और वो बोले – “मुबारक हो, अब तुम मुसलमान हो”

इसको दुस्साहस न कहा जाय तो और क्या माना जाय.. धर्म को परिवर्तन की ऐसी जिद कि पहले तो एक गरीब व बेरोजगार की हालत का फायदा उठाया गया और उसके बाद सीधे सीधे उसको बंधक बना कर जबरन मारा पीटा गया..उसको नशा दे कर उसका खतना करवा दिया गया और उसको जबरन नमाज़ पढ़ने के लिए दबाव में लिया जाने लगा गया .. न करने पर उसकी बेरहमी से पिटाई की जाती रही और यहां तक कि कत्ल करने की खुली धमकी भी मिलने लगी..ये दुस्साहसिक घटना योगीराज उत्तर प्रदेश की है ..

ज्ञात हो की साम्प्रदायिक हिंसा से बाल बाल बचे बुलंदशहर के बाद अब नया मोर्चा खोलने की तैयारी बरेली में  कर डाली गई थी.  यहां पर दिल्ली में क्लीनर का काम करने वाले महेंद्र मौर्य को पहले ड्राइवर बनवाने का लालच दे कर उसी के जानने वाले पड़ोसी ने आंवला क्षेत्र में बुलाया और उसके बाद उसको चाय में नशा दे कर बेहोश कर दिया. होश आने पर महेंद्र को बहुत दर्द हुआ व खुद को कई लोगों से घिरा हुआ पाया . तब उसको बताया गया कि उसका खतना कर दिया गया है अब अब वो सीधे सीधे स्वीकार कर ले कि वो मुसलमान बन चुका है .. इतना ही नही उस पर इस्लामिक कायदे कानून को मनवाने के दबाव भी बनाया जाने लगा .

इसको न करने पर उसको बेरहमी से मारा पीटा जाने लगा और लगभग 6 माह तक उसको बंधक भी बनाया गया .  जैसे तैसे छूट कर वो उन मज़हबी उन्मादियों के चंगुल से भागने में कामयाब हुए तो सीधे थाने पहुँचा.. मामले की जानकारी हुई तो भारतीय जनता पार्टी व अन्य हिन्दू संगठन इस मामले में लामबंद होने लगे तो पुलिस ने भी सक्रियता दिखानी शुरू कर दी है .. इस मामले में बरेली पुलिस के आधिकारिक हैंडल से किया गया ट्वीट कुछ इस प्रकार से है – उक्त प्रकरण में थाना सिरौली पर वादी महेन्द्रपाल मौर्य के द्वारा मु0अ0सं0 199/18 धारा 295क/343 भादवि बनाम फुरकान आदि 03 नफर के विरूद्ध पंजीकृत कराया है। जिसमें अभियुक्त हरकान पुत्र लियाकत निवासी मो0 प्यास कस्बा व थाना सिरौली को गिरफ्तार किया जा चुका है। जांच कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share