Breaking News:

धर्म की जीत के दिन इसराइल खान ने किया अधर्म, दो नाबालिगों की जिंदगी की तबाह

एक तरफ हो रहा था रावण का दहन तो दूसरी तरफ कलयुगी रावण दे रहे थे हैवानियत को अंजाम। जहाँ दशहरा के दिन बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मना रहे थे वहीँ दशहरा में मौजूद थे अधर्मी जिन्होंने दो मासूमों को जिंदगीभर की पीड़ा दे दी। यह मामला है छत्‍तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में गौरेला के तरईगांव का जहाँ 2 नाबालिगों के साथ इसराइल खान ने फार्महाउस में बंधक बनाकर दुष्कर्म किया।

दरअसल, दशहरा के पर्व पर गांव से गौरेला आई दो नाबालिग लड़कियों को गौरेला के ही रहने वाला इसराइल खान और उसका एक साथी बहला-फुसलाकर अपने वाहन से इसराइल खान के तरईगांव स्थित फार्म हाउस में ले गए। इतना ही नहीं वहां 24 घंटे तक बंधक बनाकर दोनों नाबालिगों के साथ दोनों ने गैंगरेप किया। दोनों नाबालिग किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छूटकर निकलीं और घर पहुंचकर अपने परिजनों को अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी।
इसके बाद उन्‍होंने परिजनों के साथ गौरेला थाने पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। आरोपियों को जब अपने खिलाफ शिकायत की भनक लगी तो वे वहां से फारार हो गए। जिसके बाद पुलिस ने मुख्या आरोपी इसराइल खान को धर दबोचा। हिन्दुओं के पर्व में विघ्न डालना किसी न किसी कारण क्या यही है काम इसराइल खान जैसे लोगों का? कभी बिहार कभी उत्तर प्रदेश और अब छत्तीसगढ़ जहाँ दशहरा को निशाना बना कर इस तरह की अधर्मता को अंजाम दिया गया। 
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW