दो युवकों व उनके अब्बू ने पहले किया बलात्कार, फिर कहा- मुसलमान बनो.. नरक से भी बदतर हुई महिला की जिन्दगी

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले से एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म का ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें दरिंदों हैवानियत की सारी हदें पार कर दी गईं तथा इंसानियत व रिश्तों की मर्यादा को भी शर्मशार कर दिया. युवती के साथ एक ही परिवार के दो युवक व उनके अब्बू ने तीन माह तक बंधक बनाकर उसके साथ लगातार बलात्कार किया तथा इसके बाद धर्मपरिवर्तन कर इस्लाम कबूल करने का दवाब बनाना भी शुरू कर दिया. पीड़िता ने कि‍सी तरह मोबाइल मि‍लने पर उसने पूूूरे घटनाक्रम से पिता को अवगत कराया. ज‍िसके बाद प‍िता ने पुल‍िस से संपर्क क‍िया और पीड़िता को आरोपितों के चंगुल से आजाद कराया. तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़, घटना मार्च महीने की है जो पिछले दिनों ही सामने आई है.. सूरजपुर जिले के ग्राम जूर निवासी मोहिब रजा अंसारी चिरमिरी में एक प्राइवेट फायनेंस कंपनी में काम करता था. इस बीच पड़ोस के ब्यूटी पाॅर्लर में काम करने वाली 20 वर्षीय युवती से उसकी जान-पहचान हो गई. मार्च महीने के अंत में युवती अपनी मौसी के यहां बैकुण्ठपुर जाने के लिए बस का इंतजार कर रही थी. इसी बीच मोहिब रजा अंसारी अपनी मोटरसाइक‍िल से पहुंचा और युवती को बैकुण्ठपुर छोड़ने की बात कहकर अपने साथ धोखे से पीड़ि‍ता को अपने घर ग्राम जूर ले गया

वहां उसने युवती के साथ जबरन बलात्कार किया और उसे बंधक बनाकर लगातार उसका दैहिक शोषण करता रहा. इस बीच हैवान मोहिब रजा अंसारी ने युवती का मोबाइल भी अपने कब्जे में ले लिया था. पहले मोहिब ने युवती को अम्बिकापुर में कुछ दिन तक बंधक बनाकर रखा तथा फिर अपने घर ले आया था. इस दौरान युवती पर पर धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबूलने का भी दबाव बनाया गया. युवती के इंकार करने पर उसे प्रताड़ित किया गया तथा मोहिब के भाई क़ुतुब तथा उसके अब्बू जबाद अली ने भी युवती के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

फिर एक दिन किसी तरह युवती के हाथ उसका मोबाइल लग गया, जिससे उसने पूरी घटना व खुद के बंधक बनाने की जानकारी पिता को दे दी. जिस पर युवती के परिजनों ने इसकी शिकायत चिरमिरी थाने में दर्ज कराई तथा ग्राम करौंदामुड़ा पहुंचकर आरोपियों के कब्जे से अपनी पुत्री को मुक्त कराया. चिरमिरी पुलिस ने मोहिब रजा अंसारी समेत उसके अब्बू जबाद अली व भाई कुतुब पर धारा 376(2), 344, 506 व 34 का अपराध दर्ज कर मामले की जांच के लिए सूरजपुर भेजा गया है, जिस पर पुलिस जांच शुरू कर दी है. युवती के पिता ने इस मामले में पुलिस पर ढुलमुल रवैया अपनाने का भी आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने अपनी बेटी के गायब होने के बाद पुलिस से संपर्क किया था लेकिन पुलिस ने ढिलाई बरती.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW