उन हवसी दरिंदों के निशाने पर आ चुकी हैं भारत की बेटियां.. बड़ी बहन बचकर भाग निकली तो छोटी का किया सामूहिक बलात्कार सद्दाम और फरमान ने

आखिर वो कौन सी सोच है जो हर नारी वर्ग को अपनी हवस की भूख मिटाने का साधन समझती है ? आखिर वह कौन सी सोच है जो अपनी हवस की पूर्ति के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं ? ये सोच है कभी अपनी दुराचारी जाहिल आदमियत वाली बहशी मानसिकता का शिकार जहाँ अपनी माँ की आयु की महिलाओं को भी बनाती है तो वहीं मासूम छोटी बच्चियों तक को भी बना लेती हैं तथा उनके बचपन को कुचल देती है.

मानवता तथा इंसानियत की दुश्मन इसी सोच का शिकार बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के मुफस्स्लि थाना क्षेत्र की 10 वर्षीय मासूम हुई है जिसके साथ रविवार की शाम अपहरण कर कार में सद्दाम तथा फरमान द्वारा सामूहिक बलात्कार किया गया. पुलिस ने हालांकि तत्काल कार्रवाई करते हुए दोनों दुष्कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक, पीड़िता नरकटियागंज की निवासी है. वो यहां अपनी बड़ी बहन के पास आई थी. पुलिस ने बताया कि रविवार की शाम बड़ी बहन उपचार कराने के लिए उसे स्टेशन चौक के पास एक चिकित्सक के क्लीनिक ले गई.

वहां से निकलने के बाद दोनों बहनें एक दुकान के सामने खड़ी थी. उसी वक़्त एक कार में सवार दो बदमाश आए. उनमें से एक पहले बड़ी बहन को साथ चलने के लिए बोला, जब उसने इनकार किया, तब बदमाश ने छोटी बहन को अपहरण कर कार में बैठाकर ले गए. पीड़िता का कहना है कि मैनाटाड़ रोड पर वीरान जगह पर कार खड़ी कर दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया और चार घंटे के बाद उसे वहीं सुनसान सड़क पर उतारकर भाग निकले. मुफस्सिल थाना के प्रभारी श्रीराम सिंह ने सोमवार को जानकारी देते हुए बताया है, “आरोपी युवक, पीड़िता की बड़ी बहन को पहले से जानता था. दोनों आरोपी सद्दाम हुसैन व फरमान खान को पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया है.”

Share This Post