Breaking News:

देवभूमि उत्तराखंड बन रहा दूसरा कश्मीर.. मुसलमानों के डर से 60 हिन्दू परिवार अपने पुरखों की जमीन छोड़कर भागे

वो दिन याद करके आज भी शरीर में सिहरन हो उठती है जब महर्षि कश्यप की पावन भूमि कश्मीर से हिन्दुओं को पलायन के लिए मजबूर किया गया था. जिन्होंने मजहबी उन्मादियों की बात नहीं मानी तो उनका क़त्ल किया गया, उनके घर की महिलाओं-बच्चियों के बलात्कार किये गये. जिस कश्मीर को दुनिया के लिए स्वर्ग कहा जाता है वो कश्मीर हिन्दुओं के लिए नरक से भी बदतर बन चुका था तथा अभी भी है. अब देवभूमि उत्तराखंड भी दूसरा कश्मीर बनता जा रहा है जहाँ मजहबी उन्मादियों के आतंक से हिन्दू परिवार पलायन को मजबूर हैं.

 उत्तराखंड के हरिद्वार जिले से सांप्रदायिक आधार पर कथित पलायन का एक बड़ा मामला सामने आया है. कहा जा रहा है कि यहां के धनपुरा गांव के रहने वाले 60 हिंदू परिवारों ने मुसलमानों के डर से अपना पुश्तैनी घर छोड़ दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, धनपुरा के रहने वाले प्रेमचंद अपने परिवार के साथ 3 साल बाद गांव लौटे थे, लेकिन वापस लौटने के बाद से दहशत में हैं. बताया जा रहा है कि पुलिस ने इन्हें घर पहुंचाया था, लेकिन इसके बावजूद उन्मादियों ने इनके घर में तोड़फोड़ की गई और धमकी दी गई.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले एक साल के भीतर धनपुरा के 20 से 25 परिवार अपना घर छोड़कर जा चुके हैं. बताया जा रहा है कि 60 से ज्यादा हिन्दू परिवार इस गांव से पलायन कर चुके हैं. यहां रहने वाले हिंद्दुओं का आरोप है कि मुस्लिम समुदाय के लोग हिंदुओं का उत्पीड़न कर रहे हैं, उनके साथ मारपीट करते हैं, जिस वजह से वे पलायन करने को मजबूर हैं. जानकारी के मुताबिक़, हिन्दू परिवारों के पलायन की खबरों के सुर्खियों में आने के बाद से प्रशासन ऐक्शन में नजर आ रहा है और माहौल बिगाड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW