Breaking News:

दरिंदगी का शिकार होने के बाद रेप पीड़िता के साथ फिर हुई बदसलूकी

कैथल : देश के रक्षक ही अगर भक्षक हो तो कहां जाएंगे पीड़ित लोग. जी हां ऐसा ही एक पीड़ित नाबालिक लड़की के साथ हुआ है. दरअसल, एक नाबालिग पीड़िता ने 20 नवंबर 2016 को पंजाब के थाने में रेप की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, लेकिन उससे भी शर्मनाक हरकत उसके साथ तब हुई जब पुलिसवालों ने ऐसा सुलूक किया जिसे सुनकर सब शर्मसार हो जाए. कैथल में पुरुष पुलिसकर्मियों ने जांच के नाम पर पीड़िता के वस्त्र उतरवाए और यही नहीं एक पुलिस वाले ने उसकी जांघो को भी छुआ.

बता दें कि 14 साल की नाबालिग पीड़िता जब शिकयत दर्ज कराने पुलिस के पास गई तो उन्होंने पीड़िता को अपनी कपड़े उतारने को कहा और बोला कि बताओ कहां-कहां रेप हुआ है. यही नहीं एक दुसरे पुलिस वाले ने उसकी जांघो पर हाथ रख दिया. आरोपी पुलिसकर्मियों ने पीड़िता को धमकी देते हुए कहा कि अगर उसने यह बात किसी से कही तो उसका मेडिकल नहीं करवाया जाएगा.

गौरतलब है कि 14 वर्षीय रेप पीड़िता ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट से न्याय की गुहार लगाई है. पीड़ित की अपील सुनकर जज ने एक नोटिस जारी कर हरियाणा के डीजीपी से अगली सुनवाई से पहले जवाब तलब किया है. पीड़िता ने बताया कि उसने 20 नवंबर, 2016 को रेप की शिकायत दर्ज करवाई थी. बताया जा रहा है कि पीड़िता उन अपराधियों को जानती है. कैथल में पीड़िता का बयान दर्ज करवाया गया, जहाँ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट भी शामिल थे.

पीड़िता ने पुलिसवालों के बर्ताव के बारे में मजिस्ट्रेट को बताया. पीड़िता के मुताबिक, 23 नवंबर को पुलिसवाले रेप के आरोपी के साथ उसे क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (सीआईए) दफ्तर लेकर आए थे. इसके बाद पीड़िता ने खुद के साथ हुई बदसलूकी के लिए आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. पीड़िता के वकील ने कोर्ट को बताया कि डीजीपी से इस केस में हस्तक्षेप की मांग के बावजूद आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है.

Share This Post