भारत पर सिर्फ कश्मीर के पहाड़ों से ही नहीं बल्कि समंदर से भी हमले की आशंका..


हिन्दुस्तान पर हमेशा आतंकी हमलों की संभावना बनी रहती है, और इसका एकमात्र करान पड़ोसी मुल्क पकिस्तान है. दुनिया में हिन्दुस्तान की मजबूत होती हुई स्थिति तथा दुनिया के शक्तिशाली राष्ट्रों द्वारा हिन्दुस्तान को मिल रहे सम्मान से परेशान होकर, जलन की भावना से ग्रसित होकर पाकिस्तान किसी न किसी बहाने से हिन्दुस्तान में घुसपैठ करने का प्रयास करता रहता है. ये घुसपैठ सिर्फ हिन्दुस्तान के पहाड़ों से ही नहीं होती है बल्कि इसके लिए नापाक मुल्क अन्य तरीके भी अपनाता रहता है. ये अलग बात है कि भारत की जांबाज सेना पाकिस्तान के नापाक मंसूबों को अपनी बन्दूक से निकली गोलियों से ध्वस्त कर देती है.

अब एक बार फिर समुद्र के रास्ते से भारत में आतंकियों की घुसपैठ की संभावना जताई गयी है. खुफिया जानकारी मिल रही है कि भारत में दहशत फैलाने के लिए आतंकवादी समुद्र के रास्ते आ सकते है. खुफिया एजेंसियों ने मछली पकडऩे के जहाज से आतंकवादियों के पहुंचने की आशंका जताई है. ख़ुफ़िया एजेंसियों की इस सूचना के बाद गोवा में अलर्ट जारी कर दिया गया है.  राज्य के बंदगाह मंत्री जयेश सलगांवकर ने कहा, भारतीय तटरक्षक बल ने पश्चिमी तट पर आतंकवादी हमले की आशंका के बारे में खुफिया सूचना साझा की है, जिसके बाद उनके विभाग ने समुद्र के तट पर स्थित सभी कैसिनो, वॉटर स्पोर्ट संचालकों और नौकाओं को अलर्ट कर दिया है. सलगांवकर ने कहा, अलर्ट केवल गोवा के लिए ही नहीं है बल्कि यह मुंबई या गुजरात तट के लिए भी है, हमने जहाजों और संबंधित एजेंसियों को अलर्ट कर दिया है. मंत्री ने कहा, पाकिस्तान द्वारा जब्त की गई मछली पकडऩे की नौका को छोड़ दिया गया है, और ऐसी खुफिया सूचना है कि वापसी में इसके जरिए आतंकवादी आ सकते हैं.

बताया गया है पाकिस्तान ने जब्त की हुई एक नौका को कराची से छोड़ा है तथा उसी नौका में आतंकियों के आने की सम्भावना है. राज्य के पोत विभाग ने तट पर स्थित कैसिनो और क्रूज जहाजों को खुफिया सूचना के मद्देनजर अलर्ट रहने के लिए कहा है. कैप्टन ऑफ पोट्र्स जेम्स ब्रेगांजा ने गोवा के पर्यटन विभाग और सभी वॉटर स्पोट्र्स संचालकों, कैसिनो और क्रूज जहाजों को भेजे संदेश में कहा, जिला तटरक्षक बल से खुफिया सूचना मिली है कि राष्ट्र विरोधी तत्व कराची में पकड़ी गई एक भारतीय नौका में सवार हुए हैं और वह भारतीय तट पर पहुंच सकते हैं तथा उनके अहम प्रतिष्ठानों पर हमला करने की आशंका है. संदेश में कहा गया है, सभी जहाज सुरक्षा बढ़ा दें और किसी भी संदिग्ध या अप्रिय गतिविधि के बारे में संबंधित अधिकारियों को सूचित करें.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share