महँगे मोबाइल बड़ी बाइक के शौक के लिए करने चले थे लूट, वो भी वहा जहां मौजूद है एसएसपी अभिषेक यादव

मुज़फ्फरनगर/उत्तर प्रदेश

मुज़फ्फरनगर में पिछले दिनों प्राइवेट फाइनेंस कर्मचारियों से दिन दहाड़े हुई लूट का खुलासा करते हुए पुरकाजी पुलिस ने 2 आरोपियों कों गिरफ्तार कर लिया है जबकि उनका एक साथी फरार है।पुलिस ने उनके पास से लूट की गई रकम से 20 हजार से ज्यादा की नगदी लूट में गए डोकोमेंट दो तमंचे कारतूस व एक अपाची बाइक बरामद की है। गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उन्होंने शौक पूरा करने के लिए इस घटना को अंजाम दिया था ।गिरफ्तार दोनों बदमाशो में से एक बीए थर्ड ईयर का छात्र है व फ़रार दूसरा आरोपी बीए सेकेंड ईयर का छात्र है ।तीनो ने पहली बार ही किसी आपराधिक घटना को अंजाम दिया था।

दरअसल मामला पुरकाजी थाना क्षेत्र के धमात नहर के निकट का है जहां 24 सितंबर को दिनदहाड़े बाइक सवार हथियार बन्द बदमाशो ने प्राइवेट फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियो को लूट लिया था और फरार हो गए थे ।पुरकाजी पुलिस ने लूट का खुलासा करते हुए शनिवार को 2 लुटेरों अंकित व रजत को गिरफ्तार कर लिया है जबकि रवि अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुरकाजी कोतवाली निरीक्षक हरशरण शर्मा ने गिरफ्तार अभियुक्तों से लूटी गई रकम में से 20 हजार 800 की नगदी डोकोमेंट 2 मोबाइल फोन 2 तमंचे कारतूस व लूट में प्रयुक्त की गई अपाची बाइक को बरामद कर लिया है ।गिरफ्तार अंकित पहले इसी फाइनेंस कंपनी में काम किया करता था उसने गाँव के दो युवकों जोकि बीए सेकंड व थर्ड ईयर के छात्र है उन्हें संग लेकर के इस घटना को अंजाम दे दिया था ।तीनो युवकों ने पहली बार किसी घटना को अंजाम दिया था ।गिरफ्तार अभियुक्तों ने पुलिस पूछताछ में अपने शौक पूरे करने के लिए लूट की घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार की है ।क्योंकि लूट के तुरन्त बाद ही तीनो युवकों ने ब्रांडेड महंगे मोबाईल खरीदे थे जोकि गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों से दो मोबाईल बरामद हो गए है तीसरा आरोपी अभी भी फरार है।

एसएसपी अभिषेक यादव ने जानकारी देते हुए बताया थाना पुरकाजी के अंदर 24 सितंबर को एक लूट की घटना हुई थी जिसमें माइक्रो फाइनेंस कंपनी में काम करने वाला कैश इकट्ठा करके ले जा रहा था उस समय मोटरसाइकिल पर सवार तीन अज्ञात बदमाशों ने उससे लूट की घटना की उसके पास जो बैग था और उसके अलावा जो कैश था और डाक्यूमेंट्स भी थे उस समय वह सारी चीज लूट ली गई थी इस घटना का आज खुलासा किया गया है जिसमें एसओजी की टीम और पुरकाजी थाने की टीम द्वारा दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है अंकित और रजत तीसरा अभियुक्त रवी अभी फरार है इन दोनों अभियुक्तों से 20850 रुपये कैश बरामद हुआ है और दो महंगे वाले फोन इनके पास से बरामद हुए हैं इसके अलावा दो तमंचा भी बरामद हुए हैं और घटना में उपयोग की गई मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है और जितने भी डाक्यूमेंट्स लूटे गए थे वह सब बरामद कर लिए गए हैं लगभग 40 उपभोक्ताओं की आईडी चली गई थी वह भी 40-40 बरामद हुई है अंकित पूर्व में इसी कंपनी में काम कर चुका है उसको सारी जानकारी दीजिए किस समय और कहां से कैसे-कैसे कितना कैसे लेकर जाते हैं बाकी जो दोनों लड़के हैं मैं थर्ड ईयर एवं सेकंड ईयर की जैन डिग्री कॉलेज के छात्र हैं अंकित ने इसमें एक तरह से गैंग लीडर का काम किया हालांकि तीनों का पहले कोई अपराधिक इतिहास नहीं रहा है अंकित ने इनको रास्ता बताया कि बहुत ही आसान तरीके से बहुत ही पैसा मिल सकता है इस समय जो पूछताछ में बातें सामने आई है कोई भी ऐसी बात सामने नहीं आई है जब रिकवरी की गई तो बहुत महंगे महंगे फोन उनके पास है जो खरीदे हुए हैं कोई भी महत्वपूर्ण आवश्यकता है इनकी नहीं थी सिर्फ महंगे फोन इनको खरीदने थे जिस वजह से इन्होंने घटना को अंजाम दिया।

रिपोर्ट

समर ठाकुर/सुदर्शन न्यूज़

Mob-9368004900

 

 


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share