उस महिला के पास केवल 2 सहारे थे, पहला उसका पति और दूसरा भगवान.. पति ने जब मुंह फेरा तो भगवान के रूप में आई बलरामपुर पुलिस

पुलिस के भले ही किसी भी रूप को किसी कारण से आप क्यों न जानते हों लेकिन अगर बलरामपुर की एक महिला से पुलिस के बारे में पूछेगे कि पुलिस क्या होती है तो निश्चित रूप से वो पुलिस का वो रूप बताएगी जो किसी देवदूत के दृश्य से कम नहीं होगी.. वो महिला जिसके पास 2 सहारे थे , एक भगवान का और दूसरा उसके पति का , लेकिन पति ने उस महिला को बेसहारा करने की कोशिश की तो भगवान ने अपने दूत के रूप में पुलिस को भेजा और उजड़ने से बच गया एक परिवार.

मामला उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले का है जहाँ की निवासिनी श्रीमती प्रीति जी पत्नी श्री हीरामणि यादव बलरामपुर में शुगर मिल गेट पुलिस चौकी क्षेत्र भगवती गंज कोतवाली शहर इलाके में रहती थीं . उन्होंने पुलिस को सूचना दी थी कि उनका पति हीरामणि उन्हें और उनके दुधमुहे 7 वर्षीय बच्चे को बेसहारा छोड़ कर किसी दूसरी महिला के साथ रहने लगा है. भगवती गंज चौकी में उन्होंने जिस भावनात्मक रूप में अपना दर्द बताया कि सभी द्रवित हो उठे और इस मामले को प्राथमिकता से लिया गया .

योगी सरकार की महिला सुरक्षा और सम्मान की प्रथमिकताओ से अच्छी तरह से वाकिफ भगवतीगंज चौकी इंचार्ज कृष्ण कुमार ने इस मामले को सबसे ऊपर प्राथमिकता में रखा और त्वरित कार्यवाही शुरू की. प्राथमिक जांच में ही सब इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार ने पता लगा लिया कि महिला के मायके में माता पिता भाई बहन कोई भी नहीं है और पति के साथ उस 7 वर्षीय बच्चे के अलावा उसका अपना संसार में कोई भी नहीं है .. ये मामला जान कर उसके बेवफा होने की राह पर चल निकले पति की तलाश शुरू हुई .

आख़िरकार अथक परिश्रम के बाद दिनांक 25-07-19 को उसके पति हीरामणि यादव को खोज निकाला गया और कानून के सभी नियम बताते ही उसको उसकी पत्नी के लिए उसके कर्तव्य याद दिलाये गये . इसमें मानवीयता का भी ध्यान रखा गया और ध्यान दिलाया गया .. चौकी भगवतीगंज में ही उसके पति को अपनी गलती का एहसास हुआ और वो अपनी पत्नी के साथ रहने को तैयार हो गया और आगे से कभी परेशान न करने की शपथ ली .. पत्नी भी अपने पति के इस रूप को देख कर बेहद खुश हुई और चौकी परिसर में ही पुलिस ने वरमाला का इंतजाम किया जहा दोनों ने एक दूसरे को फिर से वरमाला डाल कर एक दूसरे को मिठाई खिलाई ..

इस भावनात्मक पल के साक्षी पुलिस चौकी भगवतीगंज के तमाम पुलिसकर्मी भी बने.. चौकी से जाते जाती प्रीति ने चौकी इंचार्ज कृष्ण कुमार जी का अपना परिवार बिखरने से बचाने के लिए धन्यवाद किया.. चौकी इंचार्ज ने अपना मोबाईल नम्बर- 9319755100 भी आवेदिका को दिया और किसी भी समस्या पर किसी भी पल सम्पर्क करने की बात कही. अभी हाल में ही बलरामपुर जनपद में तैनात हुए सब इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार ने आते ही अपने कार्यो से जनपद ही नहीं बल्कि जनपद के बाहर भी अपने इस नेक कार्य से सराहना पाई है और योगी आदित्यनाथ के महिला सम्मान और सुरक्षा के दावों को बलरामपुर जनपद से और ज्यादा पुख्ता किया …

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW