गोरखाओं का गुस्सा अपने चरम पर. ममता का ऑफिस जला कर किया राख

दार्जिलिंग : पश्चिम बंगाल के उत्तरी पर्वतीय इलाके में फिर से हिंसा भडक़ उठी, जिसके बाद सेना को तैनात करना पड़ा। करीब एक माह से दार्जिलिंग में अलग  राज्य की मांग को लेकर एक आग सी सुलग रही है। अलग राज्य की मांग करने वाले गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ता लगातर अब उग्र रूप अपनाए हुए हैं। हालात बद से भी बदतर हो चुके हैं। यह कार्यकर्ता सीएम ममता बनर्जी के बयानों से खफा हैं।

वहीँ, पूरे मामले पर गोरखा जनमुक्ति कोर्चा का कहना है कि ताशी भूटिया को शुक्रवार की रात सोनादा में पुलिस ने गोली मार दी। गोली लगने से मौत के बाद गोरखा कार्यकर्ताओं ने अलग राज्य की मांग करते हुए टीएमसी के दफ्तर में आग लगा दी। इसके साथ ही प्रदर्शनकारियों ने टॉय ट्रेन के लिए जाना जाने वाला मशहूर दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे स्टेशन पर वेटिंग रूम को आग के हवाले कर दिया और वहां रखे फर्नीचर को जमकर तोड़-फोड़ दिया गया।

Share This Post