योगीराज में हिंदुत्व का दिखावा.. कार्यवाही से बचने के लिए हवन किया इकबाल ने


आपराधिक साम्राज्य का मालिक हाजी इकबाल के सच को सामने लाने के लिए सुदर्शन न्यूज ने सबसे पहले मुहिम चलाई थी। सदर्शन न्यूज ने हाजी इकबाल के खनन से लेकर अवैध भूमि पर भी यूनिवर्सिटी तक को जाँच के दायरे में ला दिया था। हाजी इकबाल का सहारनपुर दंगों से भी सीधा-सीधा संबंध था जिसका सुदर्शन न्यूज ने खुलासा किया था। कानून के डंडे से बचने के लिए हाजी इकबाल विदेश भागकर छिप गया था। लेकिन अब खुद को बचाने के लिए हाजी इकबाल हिंदुत्व का सहारा ले रहा है और हवन और यज्ञ कर रहा है।

हाजी इक़बाल ने सहारनपुर में अपनी आयुर्वेदिक कॉलेज में भगवान धन्वतंरी की पूजा और हवन किया। हाजी इकबाल ने कानून का धोखा देने के लिए हिंदुत्व का नाटक तो किया लेकिन उन मजहबी उलेमाओं का भी निशाना बन गया। मजहबी उलेमाओं ने हाजी इक़बाल को मज़हब से ख़ारिज कर दिया। उलेमाओ का कहना है कि कोई भी मुस्लिम किसी और मज़हब के भगवान की भक्ति नहीं कर सकता। और जो भी इस नियम का उल्लंघन करेगा उसे मजहब से खारिज जायेगा।
मजहब से खारिज किए जाने के बाद हाजी इकबाल ने उन उलेमाओं को सफाई दी कि भारत सरकार का सर्कुलर आया था कि जितने भी आयुर्वेदिक कॉलेज हैं, उनमें धनतेरस दिन आयुर्वेद दिवस के रूप में मनाया जाएगा और यज्ञ का आयोजन होगा। जिसके बाद आयुर्वेद दिवस पर ग्लोकल यूनिवर्सिटी में पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल भगवान धन्वतंरी की पूजा और हवन किया। जिसके बाद उलेमा ने उन्हें तौबा करने की हिदायत दी। उलेमा ने कहा है कि इस्लाम में अल्लाह के सिवाय किसी अन्य की इबादत नहीं की जा सकती। उलेमा-ए-कराम ने दो टूक कहा कि इस्लाम मजहब में दूसरे मजहब के पेशवाओं की इबादत करने की मनाही है।
जो लोग किसी दबाव या अपनी खुशी से ऐसा कर रहे हैं, वह स्वयं इस्लाम मजहब से खारिज हैं। दारुल इल्म के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती आरिफ कासमी ने कहा कि इस्लाम का कानून पूरी दुनिया में औरत हो या मर्द सबके लिए समान है। जो लोग अल्लाह के सिवा किसी दूसरे मजहब की इबादत करते हैं, वह मजहब से खारिज हैं। बता दें कि वाराणसी में भी मुस्लिम महिलाओं के प्रभु श्री राम की आरती करने पर उलेमाओं ने फ़तवा जारी कर दिया और यहाँ तक कि उनका निकाह तक ख़ारिज कर दिया है।    

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...