सुदर्शन न्यूज़ की आवाज पर न्यायपालिका की भी मुहर… लखनऊ हाईकोर्ट ने कहा कि “मांस के कारोबार से फ़ैल रही है नफरत जिस पर बने कड़ा नियम”

मांस के कारोबार की आड़ में फैलाई जा रही जिस नफरत तथा मजहबी उन्माद की ओर सुदर्शन लगातार आपका ध्यान आकर्षित कराता रहा है तथा इसे रोकने को लेकर कड़े कानून की मांग करता रहा है, उस पर माननीय न्यायपालिका ने भी मुहर लगा दी है. गोकशी पर दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए लखनऊ हाईकोर्ट खंडपीठ ने कहा है कि प्रदेश में मांस के कारोबार से नफरत फैल रही है. यह कारोबार धार्मिक भावनाओं से जुड़कर शाकाहारियों व मांसाहारियों के बीच लगातार नफरत की वजह बना हुआ है. हाईकोर्ट ने कहा है कि इसे रोकने के लिए सरकार को कारगर नीति बनानी चाहिए.

लखनऊ हाईकोर्ट ने कहा है कि भविष्य के नागरिकों के लिए हमें ऐसे रास्ते खोजने होंगे, जो इस नफरत से हो रहे नुकसान को सुधार सके. हाईकोर्ट ने सरकार से उम्मीद करते हुए कहा कि प्रदेश में हर एक हजार लोगों की आबादी पर एक गोशाला होनी चाहिए. प्रत्येक परिवार को एक गाय गोद लेने की जिम्मेदारी निभानी चाहिए ताकि उनके रखरखाव का खर्च निकायों पर बोझ न बने. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि मवेशियों का उचित प्रबंधन करने के लिए सभी निकायों, नगरीय क्षेत्रों और ग्राम पंचायतों में वधशालाएं बनाई जाएं. हाईकोर्ट ने कहा कि मासं के कारोबार से फ़ैल रही इस नफरत को रोकने के लिए हमें उचित नियम बनाने ही होंगे ताकि सामाजिक सद्भाव बना रहे.

Share This Post

Leave a Reply