धन्यवाद करें सतर्क हिमाचल पुलिस का जिसने दबोचे हैं 14 रोहिंग्या मुसलमान.. देवभूमि में भी दे दी थी दस्तक

म्यांमार में हिन्दुओं तथा बौद्धों की ह्त्या कर भारत में घुसपैठ कर भारत में कई जगह मजहबी उन्मादी संक्रमण फैलाने वाले रोहिंग्या आक्रान्ताओं ने देवभूमि हिमाचल में भी दस्तक दे दी थी. सुरक्षा एजेंसियों द्वारा देश की आंतरिक तथा बाहरी सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बताये जा चुके रोहिंग्या मुस्लिम देवभूमि हिमाचल को संक्रमित करना चाहते थे लेकिन धन्यवाद कीजिये हिमाचल पुलिस का जिसने 14 रोहिंग्याओं को दबोच लिया है.

मामला हिमाचल प्रदेश के किन्नौर का है म्यांमार के 14 रोहिंग्या मुसलमानों को पुलिस ने पकड़ा है. टावर लाइन का कार्य करने वाले इन सभी रोहिंग्याओं को पुलिस ने जम्मू वापस भेज दिया है, जहां ये सभी शरणार्थी शिविर में रह रहे थे. वहीं, जिला पुलिस ने जिले की सभी परियोजनाओं के प्रबंधन वर्ग और ठेकेदारों से उनके पास काम करने वाले मजदूरों का पुलिस थाना और चौकियों में पंजीकरण करने के भी निर्देश जारी किए हैं.

किन्नौर जिला पुलिस अधीक्षक एसआर राणा ने बताया कि बीते दिनों किन्नौर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि जिले में रोहिंग्या मुसलमान मजदूरों के रूप में काम कर रहे हैं. जिले की सभी परियोजनाओं से रोहिंग्या मुसलमानों के बारे में जानकारी इकट्ठा की गई तो मालूम हुआ कि रिकांगपिओ से पूह तक चल रही टावर लाइन का काम जम्मू के ठेकेदार ने ले रखा है और यहां कुछ मुस्लिम कार्य कर रहे हैं. एम/एस टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड की ओर से यह काम करवाया जा रहा है. जानकारी एकत्रित की तो पता चला कि प्रोजेक्ट में काम करने वाला एक ठेकेदार जम्मू का रहने वाला है.

ठेकेदार का नाम अजीद खान, पुत्र मुहम्मद कबीर, निवासी बनीहाल, थाना मंडी, जिला राजपुरी, जम्मू-कश्मीर बताया गया. ठेकेदार अजीद खान से पता करने पर मालूम हुआ कि 14 रोहिंग्याओं को मजदूरी करने के लिए अक्पा लाया है, जो म्यांमार के रहने वाले हैं. ये सभी जम्मू-कश्मीर के कासंग नगर कॉलोनी शरणार्थी शिविर नरवाल पुलिस थाना, जिला जम्मू में रह रहे थे. ये सभी 27 सितंबर 2019 को अक्पा लाए गए थे. पुलिस ने ठेकेदार अजीद खान को निर्देश देकर रोहिंग्याओं को वापस जम्मू भेज दिया. किन्नौर पुलिस अधीक्षक एसआर राणा ने जिले की परियोजनाओं के अधिकारियों और ठेकेदारों को निर्देश दिए हैं कि भविष्य में कोई भी मजदूर कार्य करने आता है तो उनका पंजीकरण संबंधित थाना, चौकी में प्राथमिकता के आधार पर करवाएं.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share