वो पहनता था भगवा, बुलवाता था खुद को बाबा और करता था बलात्कार.. लेकिन उसका असल नाम था सईद असगर

अगर आप सोच रहे हैं कि हिन्दुओ के खिलाफ साजिशें सिर्फ सीमाओं पर या सीमा पार हो रही है तो आप यकीनन गलत हैं . हिन्दुओ के ऊपर निशाना सिर्फ जिहाद और बम ब्लास्ट के माध्यम से ही नहीं लगाया जा रहा है . उनके साधू संत और उनका वो अमूल्य चरित्र भी उन्मादियो के निशाने पर है जो उनके पूर्वजो ने उन्हें विरासत में दिया था . सबसे ज्यादा गहरी साजिश के शिकार भगवा और भगवा वस्त्र में पूजा पाठ करते साधू संत हैं ..

इसी प्रकार का एक खुलासा हुआ है बिहार में जहाँ पर भगवा पहन कर , बाकयदा हिन्दू साधुओ के वेश में रहने वाला एक बलात्कारी जब बेनकाब हुआ तब पता चला कि उसका नाम सईद असगर उर्फ़ मस्तान है . ध्यान देने योग्य है कि एक सनसनीखेज खुलासे में बिहार के सिवान में पुलिस ने तंत्र-मंत्र के नाम पर ठगी का कारोबार करने वाले अपराधी का भंडाफोड़ किया है जिसके बाद हिन्दुओ पर गहरी साजिश का सच सबके सामने आ गया है .

सिवान एएसपी काँतेश कुमार के नेतृत्व में जिले के जीबी नगर तरवारा थाना क्षेत्र के गौरा में पुलिस ने इस कार्रवाई में बाबा के अड्डे से 66 लाख रुपये कैश, भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा, एक पिस्टल,12 कारतूस,आपत्तिजनक दवाइयां,लैपटॉप और नोट गिनने की मशीन भी बरामद किया है। बाबा बने अपराधी का असल नाम सईद असगर उर्फ मस्तान है जिसको वहां के आम नागरिक जानते ही नहीं थे . फिलहाल ये अपराधी फरार है जिसकी तलाश पुलिस कर रही है . पुलिस ने मौके से बेड़ियों में जकड़े 3 लोगों को भी मुक्त कराया है।

जो लोग यहां इलाज कराने आते थे उनके पैरों में ये सईद लोहे की जंजीर लगा देता था। इतना ही नहीं इलाज कराने आनेवाले महिलाओं का यौन शोषण भी करता था। सिवान पुलिस के मुताबिक इस बात का खुलासा सईद को बाबा समझ कर उसके पास आनेवाली एक महिला ने किया जिसके बाद पुलिस ने सईद के ठिकाने पर छापा मारा। पीड़ित महिला ने बताया की उसके परिवार वाले उसे 11 महीने पहले सईद के पास लेकर आये थे जिसके इलाज के नाम पर मस्तान रोजाना पिटाई करता था।

Share This Post