देवभूमि की सड़कों पर उतरे युवा… बोले – बन्द हो लव जिहाद.. खामोश हुई तमाम राजनैतिक जुबानें

प्रेम के नाम पर हिन्दू युवतियों को लव जिहाद में फंसाकर हिन्दू युवतियों का धर्त्मान्तरण तथा उसके बाद उनको दी जाने वाली अंतहीन प्रताड़ना के खिलाफ हिन्दू संगठन लगातार जो प्रयास कर रहे थे, उसका असर दिखाई देने लगा है. आपको बता दें कि देवभूमि उत्तराखंड के हरिद्वार में सैकड़ों की संख्या में युवा लव जिहाद के खिलाफ सड़कों पर उतरे तथा जंग का एलान किया. हरिद्वार में हिन्दू समाज के युवाओं ने प्रदेश और केंद्र सरकार से मांग की कि समाज को दूषित कर रही इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए कानून बनाया जाए. उन्होंने लव जेहाद के जवाब में लव क्रांति अभियान का हिस्सा बनने का संकल्प भी लिया.

गुरुवार को हरिद्वार के इस्माइलपुर और दिनारपुर गांव में युवाओं ने बैठक की. बैठक में लव जेहाद के मामले पर विचार-विमर्श किया गया. वक्ताओं ने कहा कि अंतरजातीय प्रेम अपराध नहीं है परंतु अगर यह काम किसी खास मकसद से योजना बनाकर और षड्यंत्र रचकर किया जा रहा है तो इसे अपराध की श्रेणी में रख जाना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय के युवक ऐसा ही कर रहे हैं. हिन्दू समाज के युवाओं ने इस बात को स्वीकार किया कि दूसरे धर्म की लड़कियों को फंसाने के लिए वे उन्हीं के समुदाय से संबंधित फर्जी नाम का इस्तेमाल करते हैं.

युवाओं का कहना है कि ऐसे कई युवा हैं, जो दूसरे धर्म के हैं, परंतु उन्होंने अपने हाथों पर छद्म नाम का गोदना गुदवा रखा है. वे पूरे षड्यंत्र के साथ लड़कियों को भगाकर ले जाने के बाद उनका ब्रेनवाश करते हैं और फिर उनका धर्म परिवर्तन करा रहे हैं. वक्ताओं ने यह भी आरोप लगाया कि इस काम के लिए उन्हें भारत में आतंकी कार्रवाई करने वाले कुछ संगठन और कई दूसरे देशों से आर्थिक मदद भी मिल रही है. युवाओं ने मुख्समंत्री व प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए सख्त कानून बनाने की मांग की. उन्होंने लव क्रांति अभियान में सक्रिय भागीदारी करने का संकल्प भी लिया जो लव जिहाद रोकने के लिए भाजपा विधायक द्वारा शुरू किया गया है.

Share This Post

Leave a Reply