उधर बहराइच में मजहबी कट्टरपंथी फैला रहे थे आतंकी वही बहराइच में हिन्दू करा रहे थे गरीब मुस्लिम लड़की का शादी

धर्म का काम तोड़ना नहीं बल्कि सभी को जोड़ने का होता है, बहराइच जिले का मामला कुछ ऐसा ही है, एक ग्राम प्रधान व अन्य हिन्दुओं ने एक आर्थिक रूप से एक कमजोर मुस्लिम परिवार की बेटी की सहायता कर एक अनोखी मिसाल पेश की है। मुस्लिम हिंदुओ को बुरा कहते है उन्हे पता होना चाइए, कि हिन्दुओं में कितना दया भाव होता है, ऐसा ही एक मामला सामने आया है कुछ जिहादी ही देश को बर्बाद कर रहे है जो देश के खिलाफ आतंक को भड़काने का काम करते है

 आपको बता दे कि ग्राम पंचायत बोझिया के बढ़हिनपुरवा ग्राम के निवासी शमशुद्दीन पेशे से मजदूर है। मसुद्दीन के पास बेटी का विवाह करने के लिए पैसे नहीं थे उन्होने ग्राम प्रधान शिवसागर से मदद मांगी। ग्राम प्रधान ने और अन्य हिंदुओ ने विवाह में सहयोग देने का वादा किया।

ग्राम प्रधान शिवसागर ने बताया कि इस शादी में प्राथमिक विद्यालय के बोझिया के शिक्षक अजय और पूर्व माध्यमिक विद्यालय बोझिया के शिक्षकों ने कपड़े तथा बर्तन दिए, वहीं कृष्ण लघु माध्यमिक विद्यालय छोटी बोझिया के प्रबंधक दिवाकर ने दहेज में अलमारी दी। बोझिया गांव के 4 आंगनबाड़ी कार्यकर्मियों ने कुर्सी और मेज दहेज में दिया। हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल कायम करने वाले ग्राम प्रधान और हिंन्दूओं के इस कार्य पुरे इलाके में चर्चा हो रही है। 

Share This Post

Leave a Reply