Breaking News:

सर्द हिमाचल की गर्म खबर.. कश्मीर में सख्त हुई सेना तो हिमाचल को बना लिया निशाना

क्या मजहबी उन्मादियों का अगला निशाना देवभूमि हिमाचल है? महर्षि कश्यप की पावन भूमि कश्मीर को लहूलुहान करने के बाद आशंका जताई जताई जा रही है कि ये उन्मादी अब मजदूर बनकर देवभूमि हिमाचल पहुँच रहे हैं तथा कश्मीर जैसी स्थिति हिमाचल प्रदेश कि करना चाहते है. गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में इस समय कश्मीरी मजबूरों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है तथा यही न सिर्फ हिमाचल प्रदेश पुलिस बल्कि देश की सुरक्षा एजेंसियों के लिए भी एक बड़ी समस्या हो सकती हैं.

जानकारी मिली  है कि पिछले कई सालों के मुकाबले इस साल हिमाचल प्रदेश में जम्मू कश्मीर से बड़ी मात्रा में मजदूर हिमाचल प्रदेश पहुंचे हैं. जिसमें सत्तर फीसद युवा बताये जा रहे हैं. ऐसे में कश्मीरी युवाओं की राज्य में लगातार बढती संख्या पुलिस के लिए मुसीबत बन सकती है. इसका प्रमुख कारन ये है कि पडोसी राज्य होने के कारण पुलिस के पास उनका कोई पुख्ता रिकॉर्ड नहीं है. देवभूमि हिमाचल में राज्य में कश्मीरियों की बढती संख्या से दो तरह के खतरे बढ़ रहे हैं. पहला तो इन कश्मीरी मजदूरों की आड़ में कश्मीर में सेना पर पत्थर फेंकने वाले भी हो सकते हैं. साथ ही सबसे बड़ा खतरा जम्मू कश्मीर के मुस्लिम युवाओं का आतंक के प्रति बढ़ता लगाव. यहीं समस्या खड़ी होती है कि जो कश्मीरी युवा आतंकी बन कर घाटी में सेना पर गोली बरसा सकता है या लोगों का कत्लेआम कर सकता है, वह किसी अन्य राज्य में जाकर भी आतंकी वारदात को अंजाम दे सकता है?

ये आशंका इसलिए भी जताई जा रही है क्योंकि इससे पहले भी कई आतंकी हिमाचल में छुपे पकड़े जा चुके हैं, जिससे राज्य की सुरक्षा पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है. मजदूर के रूप में हिमाचल पहुँच रहे इन कश्मीरी लोगों का भारतीय होने के नाते इस पर शक करना मुश्किल होता है, और यही बड़ी समस्या है. इसमें आशंका ये भी जताई जा रही है कि जिस तरह से रोहिंग्याओं को जम्मू व देश के अन्य राज्यों में बसाकर वहां कि स्थिति ख़राब करने का प्रयास किया जा रहा है, बिल्कुल उसी तरह कश्मीरी पत्थरबाज उन्मादियों को हिमाचल में भेजा जा रहा है, इसके लिए न सिर्फ हिमाचल प्रदेश सरकार बल्कि हिमाचल प्रदेश पुलिस को भी सतर्क होने कि आवश्यकता है. ये भी आशंका है कि जिस तरह से कश्मीर में भारत सरकार तथा भारतीय सेना ने पत्थरबाजों तथा आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही कि है, जिसमें भविष्य में और तेजी आने की आवश्यकता है, तो इस डर से भी ये लोग हिमाचल में मजदूर के वेश में आकर छिपे हो सकते हैं , जिसमें कई मोस्ट वांटेड आतंकी भी हो सकते है.

Share This Post