Breaking News:

गौतस्करी का पैसा भेजा जाता है आतंकियों को… IPS अधिकारी के खुलासे से पूरे देश में मची थी सनसनी

मॉब लॉन्चिंग तथा गौतस्करी को लेकर वर्तमान में देश की राजनीति गरमाई हुई है तथा इस पर तरह तरह की बयानबाजी हो रही है लेकिन एक समय एक आईपीएस अधिकारी ने देश में हो रही गौतस्करी को लेकर ऐसा खुलासा किया था, जिससे देश की राजनीति में हड़कंप मच गया था. हरियाणा की आईपीएस अधिकारी ने 2016 में कहा था कि राज्य में जो गौतस्करी हो रही है, उसका पैसा आतंकियों को फंडिंग में उपयोग किया जा रहा है तथा फिर उसी पैसे से भारत में आतंकी भेजे जा रहे हैं.

आपको बता दें कि 2016 में हरियाणा के जींद में आयोजित एक कार्यक्रम में हरियाणा की तत्कालीन डीआईजी भारती अरोड़ा ने बड़ा बयान देते हुए कहा था कि गौमांस के पैसे का इस्तेमाल आतंकबाद को बढ़ावा देने में होता है. आपको बता दें कि उस समय हरियाणा सरकार ने भारती अरोड़ा को गौमांस तस्करी पर रोकथाम के लिए बनी टास्कफोर्स का प्रमुख नियुक्त किया हुआ था. जींद में गौतस्करी पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसमें भारती अरोड़ा शामिल हुई थी. गौतस्करी पर आयोजित इसी कार्यक्रम मे बोलते हुए भारती अरोड़ा ने कहा था कि हर साल गौमांस तस्करी का मामला बढ़ता ही जा रहा है. एक अनुमान के मुताबिक सालाना करीब 15 हजार करोड़ा के गौमांस की तस्करी होती है. जिससे मोटा मुनाफा कमा कर उन पैसों का इस्तेमाल आतंकवादी गतिविधियों में किया जाता है.

आप को बता दें कि सरकार ने भर्ती अरोड़ा को गौमांस तस्करी के मामलों को रोकने की जिम्मेदारी दी थी. भारती अरोड़ा का कहना था कि पश्चिम बंगाल और यूपी के रास्तों से बांग्लादेश में गायों की तस्करी की जा रही है. हर साल करीब 60 लाख गायों की तस्करी भारत से हो रही है. भारत में तो गौमांस की कीमत 50 रुपय किलो है जबकि बांग्लादेश में इसकी कीमत 350 से 1500 रूपय किलो तर है. जिस वजह से भारत से उंची कीमत पर गायों को खरीद कर बांग्लादोश भेजा जा रहा है. 100 किलो की गाय की तस्करी करीब 30 हजार में होती है. भर्ती अरोड़ा के इस खुलासे के देश में सनसनी मच गई थी. लेकिन आज जिस तरह से गौतस्करी को लेकर बवाल मचा हुआ है, उससे साफ़ दिखता है कि भर्ती अरोड़ा ने जो कहा था, सच था.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW