हरियाणा में भी शुरू हुआ कट्टरपंथ का प्रयोग.. गाय काटने पर उबल पड़ा रोहतक

देशभर में मजहबी उन्मादियों के हौसले किस कदर बढ़ रहे हैं इसकी बानगी हरियाणा के रोहतक में देखने को मिली जब बकरीद के दिन उन्मादियों ने सरेआम हिन्दुओं की पूज्य गौमाता को काट डाला. रोहतक सदर थाना के अंतर्गत गांव टिटौली में गाय की बेरहमी से की गई हत्या की जानकारी मिलते ही हिन्दू समाज आक्रोशित हो गया तथा गौहत्यारे के घर पर धावा बोल दिया, जिसके चलते गांव में तनाव पैदा हो गया. घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रण करने का प्रयास किया.

खबर के मुताबिक़,  बुधवार सुबह ग्रामीणों ने गांव के बाहर एक गाय को संदिग्ध परिस्थितियों में मरा हुआ देखा. इसी बीच ग्रामीणों को पता चला कि मुस्लिम समुदाय के एक युवक ने गाय की पीट-पीटकर हत्या की है. गाय की हत्या की खबर गांव में तेजी से फैली और काफी संख्या में ग्रामीण मौके पर एकत्रित हो गए. देखते ही गांव के हिन्दू समाज के लोग गौहत्यारे के घर पहुंचे और वहां पर तोड़फोड़ शुरु कर दी, जिसके चलते गाँव में भगदड़ मच गयी. ग्रामीणों ने गौहत्यारे के घर को घेर लिया लेकिन उस वक्त गौहत्यारे व उसके परिजन घर पर नहीं थे. घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने आक्रोशित ग्रामीणों का समझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण आरोपी की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए. स्थिति को देखते हुए अतिरिक्त फोर्स को मौके पर बुलाया गया. ग्रामीणों का कहना था कि बकरीद के मौके पर गाय की हत्या के बाद उसे काटने के लिए ले जाने का प्लान था. पुलिस द्वारा सूचना मिलने पर पशु चिकित्सक भी मौके पर पहुंचे और गाय के शव को पोस्टमार्टम का किया गया.

पुलिस के काफी समझाने के बाद ग्रामीण माने लेकिन एक शर्त रखी कि गाय के शव को कब्रिस्तान में ही दफनाया जाएगा. बाद में रजक सुधार समिति ने लिखित में ग्रामीणों को दिया कि वह कब्रिस्तान गाय को दफना सकते हैं. सदर थाना के अंतर्गत गांव टिटौली में गाय की हत्या के मामले में पुलिस ने गांव के सरपंच सुरेश के बयान पर यामीन के खिलाफ गाय की हत्या का मामला दर्ज किया है. सरपंच ने शिकायत दर्ज करवाई की बकरीद के चलते यामीन ने गाय को काटने की नियत से उसकी हत्या की थी. बताया जा रहा है कि पुलिस ने देर शाम इस मामले में तीन लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. 

Share This Post