न डर शासन का, न कानून का.. सुप्रीम कोर्ट को चुनौती दी है राशिद ने जिसने अपनी बीबी का जीवन किया तबाह

तीन तलाक पर प्रस्तावित एक कानून के मसौदे में कहा गया है कि एक बार में तीन तलाक गैरकानूनी होगा और ऐसा करने वाले पति को तीन साल के जेल की सजा होगी । लेकिन इसके बाद भी तीन तालाक की समस्या रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। लगातार तीन तालाक की घटनाएं समाज में घटित हो रही हैं। और तीन तालाक पाने के लिए कट्टर मजहबी ऐसे कामनामे कर रहे हैं जो बेहद की शर्मनाक हैं।

आपको बता दे कि तीन तलाक को लेकर केंद्र की केबिनेट में बने कानून का जरा भी खौफ लोगों में नजर नहीं आ रहा है।

दहेज में बुलेट मोटर साइकिल नहीं मिलने पर एक व्यक्ति ने पहले अपनी बीवी से मारपीट कर घर से निकाल दिया और बाद में मायके में अपने परिजनों के साथ रह रही अपनी बीवी को तीन तलाक बोलकर फरार हो गया।
बता दे कि थाना कुतुबशेर हाकमशाह कॉलोनी हौजखेड़ी निवासी नगमा परवीन पुत्री मोहम्मद इरशाद अपने परिवार के साथ पुलिस थाने पहुंची। जहां उसने एसएसपी को बताया कि उसकी शादी 8 मई 2017 को राशिद पुत्र अब्बास से हुई थी।

नगमा परवीन का आरोप है कि पति ने दहेज में बुलेट मोटरसाइकिल देने की मांग की और बाद में उसे बुरी तरीके से मारना पीटना शुरू कर दिया।
नगमा परवीन का यह भी आरोप है कि 15 दिसंबर की शाम पति राशिद अपने पिता अब्बास, भाई वाजिद एक अन्य व्यक्ति शकील के साथ उसके घर पहुंचा और जब उसे 40 हजार का चेक और 9 हजार नगद दिए तो वह बाकी एक लाख 5 हजार की भी मांग करने लगा।

कुछ दिन में इंतजाम करके रुपए देने की बात कहने पर वह आग बबूला हो गया और मारपीट करनी शुरु कर दी। जब पिता और भाई ने उसे बचाना चाहा तो नगमा परवीन का आरोप है कि उनसे भी मारपीट करते हुए पति ने उसे तीन बार तलाक बोला और फिर आरोपी वहां से फरार हो गए। पीड़िता ने एसएसपी से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उधर, एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि मामले की जांच के लिए थाना कुतुबशेर पुलिस को आदेश दे दिए गए हैं। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

Share This Post

Leave a Reply