हैदराबादी महिला हुई धोखे का शिकार, मां की वतन वापसी को बेटी ने लगाई सरकार से गुहार

आज के दौर में भी हमारे देश भी कई
जगह महिला सुरक्षित नहीं है उनके साथ कदम-कदम पर धोखा होता रहता है हमारी ये खबर
भी कुछ ऐसी ही है जहां पर एक महिला को काम दने का लालच देकर उसे बेच दिया गया। ये
महिला भारत के ही शहर हैदराबाद की है।

बताया जा रहा है कि ये हैदराबादी महिला सऊदी अरब में एजेंट्स के धोखे का शिकार हो गई।

इस वक्त यह महिला सऊदी में मानसिक और शारीरिक
यातनाएं झेल रही है। 39 साल की सलमा बेगम को दो एजेंट्स ने इसी साल 21 जनवरी को घरेलू काम करने के वीजा पर सऊदी
भेजा था। सलमा ने अपनी बेटी को मेसेज भेजकर बताया है कि उसे तीन लाख रुपये में बेच
दिया गया है और उसपर बेइंतहा जुल्म किए जा रहे हैं। अब सलमा की बेटी ने तेलंगाना
और भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

 

सलमा ने ये सब जानकारी अपनी बेटी
को मेसेज के जरिये भेजी और उसे बताया कि उसे तीन लाख रूपये में बेचा जा चुका है और
उस पर तरह तरह के अत्याचार हो रहे है। अपनी मां पर
हुये अत्याचार के बाद सलमा ने तेलांगना और भारत सरकार से मदद के लिए अपील की है।

हैदराबाद शहर के बाबानगर इलाके में
रहने वाली सलमा बेंगम की बेटी ने बताया कि मेरी मां सलमा बेगम के साथ अकरम और शफी
नाम के दो युवकों ने धोखा दिया है। ये दोनों युवक भी इसी इलाके में रहते है।

इसके अलावा समीना ने बताया कि सऊदी
पहुंचते ही उसकी मां को उनके कफील के साथ कांटैक्ट मैरिज करने के लिय कहा गया लेकिन
जब समीना की मां ने इस मैरिज से मना किया तो उनको परेशान किया जाने लगा। समीना ने
ये भी कहा कि उसकी मां अपने वतन वापस आना चाहती है लेकिन उनका कफील उन्हें आने
नहीं दे रहा है।

सलमा के एजेंट ने समीना से उसकी
मां को वापस लाने का भरोसा दिलाया था कि उसकी मां 20 फरवरी तक
भारत वापस आ जाऐगी लेकिन कई माह बीत जाने के बाद भी समीना की मां वापस नहीं आ पाया
है। वहीं, समीना ने तेलंगाना सरकार से भी इस
मामले में हस्तक्षेप की गुहार लगाई है।

 

बताते चलें
कि कुवैत, ओमान, कतर, सऊदी अरब
और यूएई गल्फ कोऑपरेशन काउंसिल (जीसीसी) के सदस्य देश हैं। यहां पर बाहर देश से आए
लोगों के लिए कफाला सिस्टम चलता है। जिसके तहत इन देशों में बाहर से आने वाले लागों को यहां के
स्थानीय नागरिक दूरा स्पान्सर किया जाना जरूरी होता है। स्पान्सर की मर्जी के बगैर
कोई भी व्यक्ति देश बाहर नहीं जा सकता है।

 

Share This Post