Breaking News:

मुसलमान अगर मुसलमान के साथ ये करता है तो वो नहीं माना जाएगा अपराधी…

मुस्लिम समुदाय की लड़कियों के साथ होने वाले रेप और अपहरण के मामले में गुजरात हाईकोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि अगर किसी मुस्लिम समुदाय की लड़की किसी लड़के के साथ भागकर शादी कर लेती है तो इस मामले में किसी भी प्रकार का रेप केस नहीं लगाया जाएगा। 
गुजरात हाईकोर्ट ने अपना अहम फैसला उस मामले में सुनाया जिसमें छह साल पहले 16 वर्षीय फरीदा, आरिफ अफवन के सात भाग गई थी और उससे शादी कर ली थी। जिस काजी ने उन दोनों का निकाह कराया था उसने उनका मैरिज सर्टिफिकेट भी दिखाया है। इसके बाद फरीदा के पिता ने लड़के के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। 
फरीदा के पिता की एफआईआर के बाद आरिफ ने अपने ऊपर लगे आरोपों को हटाने के लिए हाई कोर्ट में अपील की थी। जिस पर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है। शरिया कानून के मुताबिक मुस्लिम समुदाय की लड़की 15 साल की उम्र में परिपक्व हो जाती है और वो अपनी मर्जी से शादी करने के लिए स्वतंत्र होती है।    
Share This Post