कत्ल में साथ दिया था वो इमाम जो सबको देता था प्रेम का ज्ञान.. सन्न है समाज

मुस्लिम इमामों की कट्टरपंथी और महिलाओं के प्रति बदनीयती का एक और मामला घटित हुआ है। जहाँ एक इमाम ने पति की गैरहाजिरी में एक महिला को अपने प्रेम जाल में इस कदर फंसाया की उसने अपनी सास को मौत के घाट उतार दिया। जिसके बाद दोनों ने इस हत्या को हादसा दिखाने के लिए लाश को छत से फेंक दिया।

पेड़ू गांव के मझरा में 65 वर्षीय शेरबानो की तीन दिन पहले मौत हो गई थी। जिसका छत से गिरना बताया जा रहा था।

वृद्धा का बेटा जुबैर देहरादून में पेंटिंग का काम करता है और उसकी पत्नी शहाना अपनी सास के साथ रहती थी। अक्सर सास-बहू के बीच झगड़े होते रहते थे जिनके निपटारे के लिए गांव की मस्जिद में इमामत करने वाला मोहम्मद अली उसे अक्सर लड़ाई-झगड़े खत्म करने के लिए तावीज दिया करता था। इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए तीन दिन बाद तीजे की फातिहा के बाद जुबैर ने जब पत्नी से सख्ती से पूछा तो वो टूट गई और उसने सारा राज उगल दिया।

 पति ने इमाम के साथ नाजायज संबंधों का आरोप लगाते हुए पत्नी और इमाम के खिलाफ तहरीर दी है। इस पर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जुबैर के मुताबिक पत्नी शहाना ने कुबूला है कि उसके गांव की मस्जिद में इमामत करने वाले मोहम्मद अली के साथ नाजायज रिश्ते हैं। जुबैर ने आरोप लगाया कि दोनों ने मिलकर उसकी मां की हत्या की है जिसे हादसा दिखाने के लिए छत से फेंका गया था ।जुबैर की तहरीर के आधार पर क्षेत्र की पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

Share This Post

Leave a Reply