Breaking News:

क्या चंदौली का चिदंबरम बनने की राह पर है ढोढियां गाँव का प्रधान ? कहाँ गया शौचालयों व आवास के लिए आबंटित पैसा ?

एक तरफ देश वर्तमान सरकार के नेतृत्व में भ्रष्टाचार से लड़ाई के लिए आगे बढ़ रहा है तो वहीँ इसी देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपना आदर्श नरेन्द्र मोदी और योगी आदित्यनाथ जैसे निष्कलंक छवि के नेताओं को मानने के बजाय अभी भी चिदंबरम जैसे नेताओ की राह पर जहाँ और जिस स्तर पर भी हाँ , वहां चल रहे हैं,.. उन्हें मात्र पैसे का लोभ है जबकि उसके चलते मोदी और योगी के राष्ट्र निर्माण के स्वप्न को कितनी चोट पहुचती है, इस से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता दिखाई दे रहा..

यहाँ बात जनपद चंदौली की हो रही है जहाँ जल्द ही जांच के बाद एक नये चिदंबरम की आहट सुनाई दे रही है . भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र के ठीक बगल और मेहन्द्र नाथ पाण्डेय व राजनाथ सिंह जैसे कद्दावर केन्द्रीय मंत्रियों के गृह जनपद के साथ साथ बिहार प्रदेश के बॉर्डर से जुड़े जनपद चंदौली में एक भी ऐसी हरकत जहाँ इन बड़े नामो व केन्द्रीय मंत्रियों की शाख पर बट्टा लगा सकती हैं तो वहीँ पड़ोस बिहार में उत्तर प्रदेश सरकार की नाकामी का ढिंढोरा भी बन सकतीं है.

सबसे खास बात ये है कि ये मामला उस स्वच्छता अभियान से सम्बन्धित है जो प्रधानमन्त्री मोदी की सबसे बड़ी प्राथमिकता है.. अभी हाल में ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन प्रधानो की जांच करवा कर कार्यवाही करने का आदेश दिया था जिनकी सम्पत्ति तेजी से बढ़ी है और जिन्होंने विकास के लिए शासन द्वारा भेजे गये सरकारी धन का दुरूपयोग किया था. अब एक ऐसा गाँव खुद ही सामने आ गया है जहाँ योगी आदित्यनाथ के इन आदेशो का पालन वहां की जनता को सबसे ज्यादा जरूरी लग रहा है .

ये गाँव है चंदौली जनपद का ढोढियां गाँव. यहाँ के प्रधान के खिलाफ यहीं की ही जनता ने मोर्चा खोल दिया है जिसके अनुसार प्रधानमन्त्री आवास योजना से ले कर स्वच्छता अभियान तक में भारी धांधली हुई है यहाँ . इन ग्रामीणों ने इसका मुख्य जिम्मेदार यहाँ के ग्राम प्रधान को बताया है और कहा है कि उन्होंने गाँव के विकास के लिए आया तमाम पैसा खुद और खुद के व्यक्तिगत कार्यों के लिए हडप लिया है..      गाँव वालों ने तो इस मामले को सामूहिक रूप से जिलाधिकारी तक के यहाँ पहुचाया .

इस मामले में जब सुदर्शन न्यूज की टीम निष्पक्ष सच्चाई जानने के लिए गाँव ढोढियां में गई थी तब ग्राम प्रधान के बेटे ने संवाददाता जितेन्द्र के साथ बेहद बुरा वर्ताव किया और गाली गलौज के साथ धक्का मुक्की भी की . साथ ही वहां से जाने अन्यथा बुरे अंदाज़ भुगतने की धमकी भी दी थी जिसकी शिकायत बाकायदा सकलडीहा थाने में की गई थी . जो ऐसी तानाशही पत्रकारों के साथ दिखा सकता है वो आम गरीब निवासियों के विरुद्ध के भाव से पेश आता होगा ये खुद से समझने के लिए पर्याप्त है .

यद्दपि यहाँ सराहना करनी होगी जिलाधिकारी नवनीत चहल की जिन्होंने मामले की गंभीरता को फ़ौरन समझा और एक टीम तत्काल गठित कर के गाँव भेजी और पूरी जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द देने के लिए कहा.. जांच टीम गाँव में भी गई और सूत्रों के अनुसार उन्हें गाँव वालों के आरोपों में सत्यता नजर आई जिसकी अधिकारिक पुष्टि अभी बाकी है.. जांच करने गई इस टीम में DPRO श्री उमाशंकर मिश्रा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेंद्र प्रताप सिंह, ADO पंचायत बैजनाथ जी थे..

इस टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रेषित कर दी है जिसके बाद क्षेत्रवासी इस मामले में न्याय की आशा कर रहे हैं . सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसमें कुछ राजनैतिक छवि के लोगों का हस्तक्षेप भी हो रहा है जो स्थानीय राजनैतिक लाभ के लिए प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार को राष्ट्रीय व प्रादेशिक स्तर पर हानि पहुचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.. यद्दपि आम जनमानस को पूरा यकींन है कि जल्द ही इस मामले में जिलाधिकारी महोदय दूध का दूध और पानी का पानी कर देंगे..

उक्त प्रधान पर ये भी आरोप है कि ये बिना लाईसेंस के फर्जी क्लिनिक गाँव में चलाता है और गरीबों के साथ बीमारों के धन ही नहीं बल्कि जीवन को खतरे में डालता है , लेकिन जनपद चन्दौली के CMO की ढुलमुल नीति व निष्क्रियता के चलते जहाँ अस्पतालों में पहले से महिलाओं को गाली देते वीडियो वायरल होते हैं तो ऐसे फर्जी व झोलाछाप डाक्टरों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है.. इस क्लिनिक में दवाये व इंजेक्शन आदि मनमाफिक दाम पर दिए और लगाये जाते हैं जो इलाके का हर व्यक्ति दबी जुबान से स्वीकार भी करता है .

अब उस गाँव ही नहीं क्षेत्र के तमाम लोगों की नजरें अब जिलाधिकारी महोदय की तरह हैं जिनको इस मामले में न्यायोचित कार्यवाही करनी है लेकिन जिस प्रकार से इस मामले में राजनैतिक हस्तक्षेप की खबरें आ रही हैं उस से किसी विपरीत निर्णय का प्रतिकूल असर जनता पर व जनता के चलते सरकार की प्रादेशिक व राष्ट्रीय छवि पर पड़ने की पूरी संभावना जताई जा रही है. फिलहाल समाज उस कार्यवाही की प्रतीक्षा कर रहा है जो जनपद चंदौली के तमाम भ्रष्टाचारियो के लिए एक नजीर बन जाए ..

रिपोर्ट-

प्रशांत सिंह 

सुदर्शन न्यूज संवाददाता – जनपद चंदौली 

मोबाइल – 9264915248 

Share This Post