राष्ट्रीय ध्वज में अशोक चक्र के बजाय मस्जिद बना कर फहराया गया… आयोजन था “जुलूस ए गौसिया” का और जगह UP का पीलीभीत

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के अपमान का सनसनीखेज मामला सामने आया है. खबर के मुताबिक़, मजहबी जुलूस “जुलूस ए गौसिया” के दौरान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे में “अशोक चक्र” के बजाय “मस्जिद” बनाकर फहराया गया. इस मामले को लेकर हिंदु जागरण मंच व अखिल भारतीय हिंदु महासभा ने पुलिस अधीक्षक पीलीभीत को एक ज्ञापन दिया, जिसमें जुलूस-ए-गौसिया में मुस्लिम समुदाय द्वारा राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने के सम्बंध में बताया गया. हिन्दू संगठनों ने ज्ञापन में आरोप लगाया कि मुस्लिम समुदाय द्वारा राष्ट्रीय ध्वज के अपमान का खुला अपमान हुआ तथा राष्ट्रीय ध्वज पर बने अशोक चक्र की जगह मस्जिद का चित्र बनाया गया था.

पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह को दिए ज्ञापन में बताया कि मुस्लिम समाज द्वारा राष्ट्रीय ध्वज के सम्मान के साथ खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई. ज्ञापन में कहा गया था कि ये सिर्फ राष्ट्रध्वज में अशोक चक्र की जगह मस्जिद दिखाने मात्र का मामला नहीं है बल्कि ये देश का अपमान है, हिंदुस्तान का अपमान है.  ज्ञापन में उनकी मांग है कि अगर सरकार जुलूस के आयोजन सहित समस्त जुलूस में सम्मिलित देशद्रोहियों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करके फांसी की सजा दी जाए.

हिन्दू संगठनों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर जल्द राष्ट्रध्वज तिरंगे का अपमान करने वालों के खिलाफ प्रशासन ने कार्यवाई नहीं की तो पीलीभीत सहित पूरे भारत के समस्त नागरिक आंदोलन करने के लिए बाध्य होगें, जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन को होगी. इस बारे में बात करते हुए पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वो इसकी जांच कराएंगे और जो भी उचित धाराएं बनती होगी उसके अनुसार कानूनी कार्रवाई की जायेगी.

Share This Post

Leave a Reply