SSP की चेतावनी- सड़कों पर न दिख जाना नमाज पढ़ते हुए.. एक नए नायक के रूप में IPS अजय कुमार साहनी

आईपीएस अजय कुमार साहनी.. ये वो नाम है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की रामराज्य की संकल्पना को अपनी मेहनत, ईमानदारी तथा अटल इरादों से साकार करने में जुटा हुआ है. आईपीएस अजय कुमार साहनी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के एसएसपी हैं जहाँ वह आम जनता के लिए नायक तो वहीं अपराधियों के लिए काल का दूसरा नाम बने हुए हैं. मेरठ की जनता आईपीएस अजय कुमार साहनी के अंदर एक ऐसा सुपर हीरो जो अपराधीकरण के खिलाफ गहन अभियान चलाए हुए है तो वहीं अपराधी उनके नाम से ही कांपते हैं.

अब मेरठ के एसएसपी अजय कुमार साहनी ने मस्जिदों के मौलवी को नोटिस भेजकर चेतावनी दी है कि शहर में जुमे की नमाज सड़क पर नहीं पढ़ी जाएगी. एसएसपी ने कहा कि जुमे की नमाज सड़क पर पढ़ने से कई जगहों पर यातायात घंटों प्रभावित होता है. वहीं, बकरीद के अवसर पर ईदगाह पर पुलिस की कड़ी चौकसी रहेगी. खुफिया विभाग की रिपोर्ट मिलने के बाद एसएसपी अजय साहनी ने सभी धार्मिक स्थलों की सूची तैयार कराई. जहां-जहां नमाज सड़क पर पढ़ी जाती है, उन धार्मिक स्थलों के मुतवल्ली-मौलवी को नोटिस जारी किया.

मेरठ में हापुड़ रोड स्थित इमलियान मस्जिद, सदर बाजार और नूरनगर में धार्मिक स्थल के बाहर नमाज पढ़ना बताया गया. एसएसपी ने चेतावनी दी कि अगर किसी ने सड़क पर नमाज पढ़ी तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. इससे यातायात प्रभावित होता है, शहर में जाम की स्थिति बनती है. वहीं, बकरीद पर दिल्ली रोड ईदगाह पर सड़क पर नमाज पढ़ने को लेकर एसएसपी ने कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

Share This Post