Breaking News:

मुसलमानों के हज का पैसा खुद खाता था आज़म खान.. इस बार ये आरोप पुलिस ने नहीं बल्कि किसी और ने लगाया है

एक समय उत्तर प्रदेश की सियासत में धाक रखने वाले सपा नेता तथा रामपुर लोकसभा सीट से पार्टी सांसद आजम खान के सितारे इस समय गर्दिश में चल रहे हैं. सपा नेता आजम खान के काले कारनामों पर क़ानून का शिंकजा कस चुका है. पिछले कुछ समय में आजम खान पर 80 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हो चुके हैं तथा उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. अभी तक तो आजम खान कानून के ही शिकंजे में थे लेकिन अब उनके खिलाफ इस्लामिक मौलाना भी हो गये हैं तथा उन्होंने आजम पर केंद्र से मिलने वाले मुस्लिमों के पैसे को खाने का आरोप लगाया है.

दरअसल समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव शनिवार को आजम खान के समर्थन में रामपुर पहुंचे. इस दौरान इस्लामिक मौलानाओं ने उनका विरोध किया. इस्लामिक मोहब्बे अली ने मुसलमानों से अखिलेश यादव से न मिलने की अपील भी की. तंजीम अवामे अहले सुन्नत के अध्यक्ष मौलाना मोहब्बे अली ने शनिवार को पत्रकारों से कहा, “सपा के शासन में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां ने यहां अघोषित आपातकाल लगा कर मुसलमानों पर अंग्रेजों से भी ज्यादा अत्याचार किए थे. उन्हें उसी का खमियाजा भुगतना पड़ रहा है. ऐसे में अब मुसलमानों को आजम का पक्ष लेने आए अखिलेश यादव से नहीं मिलना चाहिए.”

मोहब्बे अली ने जहा कि उस वक्त को याद करें, जब आजम खां ने यहां के मुसलमानों की दुकानें, मकान और कारोबारों को नेस्तनाबूद कर दिया था. इसके अलावा उन्हें फर्जी मुकदमों में जेल भी भिजवाया था. ऐसे में मुसलमान उन पर जुल्म ढाने वाले के हिमायती अखिलेश यादव से न मिलें तो ही अच्छा है. मौलाना ने कहा, “मुसलमान तालीम का नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी को निजी संपत्ति बनाने का विरोधी है. यहां के धर्मगुरुओं से निवदेन है कि उनका पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने का जो कार्यक्रम है, उसे स्थगित कर दें. आजम खां से नहीं, बल्कि अल्लाह से डरें.”

मोहब्बे अली ने कहा कि मुसलमानों की तरक्की के लिए केंद्र सरकार से जो धन मिला, आजम वह सारी धनराशि भी हड़प गए. मदरसा आलिया को तबाह कर उस पर अवैध कब्जा कर लिया. उसकी लाइब्रेरी की हजारों किताबों को चुराकर वह अपनी यूनिवर्सिटी में ले गए. आजम मुस्लिम कौम के धुर विरोधी हैं. यहां पर उनके जुल्मों की जद से धार्मिक स्थल भी न बच सके थे. उन्होंने कब्रिस्तानों को खुदवा कर सड़कें निकलवाईं. कई मजारों को ढहवाया है.” गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खान और उनके परिवार के खिलाफ ताबड़तोड़ मुकदमे दर्ज हो रहे हैं. इन मामलों में जमीन पर अवैध कब्जे के साथ भैंस चोरी, बकरी चोरी तक के मामले हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW