Breaking News:

हिंदुओं के हिंदुस्तान में, हिंदुस्तान की सरकार से मागं रहा है गाय काटने की इजाजत…

हिंदुस्तान में रहकर, हिंदुस्तान की ही सरकार से गौ हत्या की परमिशन मांग रहे है इससे बड़ी शर्मशार की बात क्या है। जहाँ हमारे भारत में त्योहारों में गौ को

पूजनीय माना जाता है वहीँ कुछ लोग अपने ईद-उल-अजहा त्योहार को मानाने के लिए गौ हत्या की मांग कर रहे है। भारत में गाये को माता का दर्जा दिया जाता,

पूजा जाता है, आज भी ग्रामीण इलाकों में हर रोज खाना बनाते समय पहली रोटी गाय के नाम की बनती है।

लेकिन कुछ लोग भारत में ही रेहकर भारत की आस्था को कुचल देते है, कलेजा तड़प उठता है देखकर अपने ही भारत में कितनी बेहरमी से मार देते है यह हमारी

गौ माता को। उसके बाद भी सीना ताने यह मुसलमान ईद-उल-अजहा (बकरीद) के मौके पर सुरक्षा की मांग कर रहे है। दरअसल, गुरुवार को जिलाधिकारी को

संबोधित जामिया उलेमा की तरफ से एक पत्र सौंपा गया। पत्र में लिखा गया है कि प्रदेश के कौने-कौने से हज पर जाने वाले मुसलमानों का एयरपोर्ट पहुंचना शुरू

हो गया है।

उनकी जानमाल व इनके आने-जाने की सुरक्षा व्यवस्था सरकार का दायित्व है, जिसे देखते हुए सरकार इस पर गौर फरमाए और इनकी सुरक्षा सुनिश्चित किए

जाने की पहल करे।

जिस पर कलेक्ट्रेट पर मौजूद उलेमाओं ने कहा कि ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बानी के फरिजे को अदा करने में कोई बाधा व कठिनाई न

आए, इसके लिए सरकार की तरफ से प्रतिबंधित पशुओं के आलावा दीगर पशुओं के घरों तक लाने व ले जाने और उनकी कुर्बानी करने में सुरक्षा का इंतजाम किया

जाए, ताकि ईद-उल-अजहा त्योहार सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाया जा सके।

बात यहीं नहीं ख़त्म होती उसके बाद भी बेशरम होकर जिला अध्यक्ष मौलाना मोहम्मद अय्यूब मजाहिरी ने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि उत्तर प्रदेश सरकार व

यहां का प्रशासन सभी धर्म के मानने वालों का ध्यान रखते हुए मुसलमानों को अपने धार्मिक कर्तव्य का पालन करने में पूरा सहयोग देगी। हम पूछना चाहते है

कि क्या भारत में हमारी आस्था सुरक्षित नहीं है, गैर मजहब को इतना तावोच्च दिया जा रहा है की हमारी खुद की आस्था कुचली जा रही है।  

Share This Post