कट्टरपंथ फैलाते चैनलों पर हुई कार्यवाई तो चीख उठी के राजनैतिक पार्टी.. बोली– “गलत कर रहे हो मोदी”

जब से जम्मू कश्मीर में महबूबा सरकार गयी है तथा राज्यपाल शासन लगा है तब से राज्यपाल वोहरा एक के बाद एक कड़े फैसले ले रहे हैं. हाल ही में गृह मंत्रालय की रिपोर्ट भी सामने आयी थी जिसमें साफ़ कहा गया है कि राज्यपाल शासन के दौरान कश्मीर में हिंसक घटनाओं में कमी आयी है तथा कट्टरपंथ पर भी लगाम लगी हैं. इसी दौरान कश्मीर घाटी में कट्टरपंथ फैलाने वाले 30 से ज्यादा इस्लामिक तथा पाकिस्तानी टीवी चैनलों को बंद कर दिया  गया है. कश्मीर में इस्लामिक चैनलों पर पाबंदी लगाने के बाद एक राजनैतिक पार्टी चीख पडी है तथा कहा है कि ये गलत किया जा रहा है.

आपको बता दें कि पीडीपी प्रमुख तथा जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर घाटी में 30 से ज्यादा टीवी चैनलों पर पाबंदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए रविवार को कहा कि इसकी बजाय सरकार को ऐसे ‘पूर्वाग्रही’ चैनलों की पहचान करनी चाहिए जो ‘तनाव भड़काने के लिए’ गलत बातें प्रसारित करते हैं. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मोदी जी आप कश्मीर में इस्लामिक चैनलों को बैन करके बहुत गलत कर रहे हो. अच्छा होगा कि इन चैनलों से ये पाबंदी हटाई जाए. गैरतलब है कि सरकार ने घाटी में पाकिस्तान और सऊदी अरब के 30 से ज्यादा चैनलों पर पाबंदी लगा दी है. उसकी दलील है कि व्यापक जनहित में और अमन – चैन कायम करने के लिए केबल ऑपरेटरों को ऐसे टीवी चैनलों को दिखाने से प्रतिबंधित कर दिया गया है जिन्हें केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की अनुमति प्राप्त नहीं है तथा जो कट्टरपंथ फैलाते हैं.

कश्मीर में इस्लामिक चैनलों को बैन करने के केंद्र सरकार के आदेश के बाद राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने ट्वीट किया, ‘जम्मू – कश्मीर में शांति के लिए खतरा होने की दलील देकर 30 से ज्यादा टीवी चैनलों पर हाल में लगाई गई पाबंदी सवाल उठाने लायक है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि ये फैसला पूरवाग्रह से ग्रसित मानसकिता से लिया गया है तथा वह इसकी आलोचना करती हैं.

Share This Post

Leave a Reply