अब राह होगी आसान, पीएम मोदी ने जनता को समर्पित की देश की सबसे लंबी सुरंग, जानें इसकी खूबियां…

श्रीनगर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अत्याधुनिक और देश की सबसे लंबी चेनानी-नाशरी सुरंग का उद्घाटन किया। यह सुरंग जम्‍मू और श्रीनगर की राह को आसान करेगी और यात्रा में लगने वाले समय में कटौती होगी। उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी के साथ जम्‍मू कश्‍मीर की मुख्‍मंत्री महबूबा मुफ्ती, राज्‍यपाल एनएन वोहरा भी मौजूद थे। पीएम मोदी ने सुरंग के अंदर जीप से यात्रा की और सुरंग में कुछ थोड़ी देर तक पैदल भी चले।

इस सुरंग से सूबे की दोनों राजधानियों जम्मू और श्रीनगर के बीच का यात्रा का समय घटकर दो घंटे तक कम हो जाएगा। अब चेनानी और नाशरी के बीच की दूरी 41 किलोमीटर से घटकर 10.9 किलोमीटर रह जाएगी। यह सुरंग 1200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह भारत का पहला ऐसा मार्ग होगा जो विश्व स्तरीय ‘समेकित सुरंग नियंत्रण प्रणाली’ से लैस होगा और जिसमें हवा के आवागमन, अग्निशमन, सिग्नल, संचार और बिजली की व्यवस्था स्वचालित तरीके से काम करेगी।

सुरंग के अंदर 124 सीसीटीवी कैमरे। हर कैमरे की दूरी 75 मीटर है, जो 360 डिग्री घूमने में सक्षम है। इस टनल की लबाई 9.2 किलोमीटर है। इस सुरंग में दो समानातंर ट्यूब हैं। मुख्य ट्यूब का व्यास 13 मीटर है और सुरक्षा ट्यूब या निकास ट्यूब का व्यास छह मीटर है। दोनों ट्यूब में 29 जगहों पर क्रॉस पैसेज है। मुख्य ट्यूब में हर 8 मीटर पर ताजा हवा के लिए इनलेट बनाए गए हैं।

हवा बाहर जाने के लिए हर 100 मीटर पर आउटलेट बनाए गए हैं। सुरंग में हर 150 मीटर पर एसओएस बॉक्स लगे हैं। आपातकालीन स्थिति में यात्री इनका इस्तेमाल हॉट लाइन की तरह कर सकेंगे। आईटीसीआर से मदद पाने के लिए यात्रियों को एसओएस बॉक्स खोलकर बस ‘हैलो’ बोलना होगा। एसओएस बॉक्स में फर्स्ट एड का सामान और कुछ जरूरी दवाएं भी होंगी ताकि किसी तरह का हादसा होने पर उन्हें तुरंत जरुरी मदद मिल सके।

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इस सुरंग को बनाने में करीब 3,720 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। यह सुरंग उधमपुर को रामबन जिले के साथ जोड़ती है। इस सुरंग के माध्यम से यात्रा करने से न केवल दो घंटों की बचत होगी, बल्कि वाहनों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ईंधन पर आने वाले खर्च में भी प्रतिदिन 27 लाख रुपये की बचत होगी।

Share This Post