Breaking News:

कैसर और नासिर ने 9 की मासूम का तब तक बलात्कार किया जब तक वो मर नहीं गयी. घटना भारत की जिस पर खामोश है मोमबत्ती गैंग

एक बार फिर से थर्रा गयी है कश्मीर की घाटी एक मासूम की चीखों से . कठुआ से कहीं ज्यादा भयानक मामला आया है सामने जहाँ पर न सिर्फ एक मासूम का बेरहमी से बलात्कार हुआ है बल्कि उसको मार भी डाला गया है . कठुआ मामले में अतिसक्रिय पूरी टीम अचानक ही इस मुद्दे पर खामोश हो गयी है और बच्ची के परिजन न्याय पाने की अश में दर दर भटक रहे हैं . एक बार फिर से लहुलुहान हुआ है कश्मीर .

ज्ञात हो की इस बार मामला है कश्मीर के बारामुला जिले से जहाँ शर्म को भी शर्मशार करती एक घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है . इस बार जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला जिले में एक नौ वर्षीय मासूम बच्ची से बेरहमी से दुष्कर्म उसकी मौत होने तक करते रहने के आरोप में पांच दुर्दांत दरिंदों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में एक महिला भी शामिल है जिसके मन में उस मासूम के प्रति नफरत भरी थी और उसी ने रच दी उस बच्ची के मौत की इतनी भयानक कहानी . 2 सितम्बर को लापता लड़की का शव उसके घर से एक किलोमीटर दूर सड़ी-गली अवस्था में बरामद हुआ।

ईष्र्या से उत्पन्न इस भयानक अपराध में बच्ची की सौतेली मां को भी गिरफ्तार किया गया है। इस नृशंस मामले में पुलिस प्रवक्ता के बयान के अनुसार “लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में एक महिला और चार युवकों को गिरफ्तार किया गया है। बच्ची का शव दो दिन पहले उरी तहसील में जंगल से बरामद किया गया था।” अपराध के बारे में उन्होंने कहा कि बच्ची के पिता ने अपनी बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी और उन्होंने आशंका जताई थी कि उनकी बेटी को अगवा किया गया है। जांच के दौरान, पुलिस ने पाया कि लड़की के पिता की दो पत्नी हैं और बच्ची झारखंड की महिला की बेटी है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच से पता चला कि फहमीदा अपने पति की दूसरी पत्नी गैर कश्मीरी खुशबू और उसकी बेटी से लंबे समय से नफरत करती थी क्योंकि उसे लगता था कि उसका पति अपनी दूसरी पत्नी से ज्यादा प्यार करता है। फहमीदा ने ईष्र्या में आकर अपनी सौतेली बेटी को मारने की साजिश रची। उन्होंने कहा, “वह उसे जंगल ले गई और चार अन्य लोगों के साथ अपराध को अंजाम दिया जिसमें उसका 14 वर्षीय बेटा, उसका दोस्त कैसर अहमद (19), नासिर अहमद (28) व एक एक अन्य 14 वर्षीय लड़का शामिल था।” इस मामले में अब तक मानवता के कथित ठेकेदार और बेटी के सम्मान में अक्सर कैंडल मार्च निकालने वाले खामोश देखे गये हैं .

Share This Post