बकरीद के दिन चढ़ी पुलिसवालों की बलि.. 3 जवानों की बेरहम ह्त्या

कहने को तो कल बकरा ईद थी तथा इस्लाम को मानने वालों ने जोर शोर से बकरीद मनाई. लेकिन कश्मीर में बकरीद का एक अलग ही रूप देखने को मिला. पूरे देश में ईद पर बकरे की कुर्बानी दी गयी वहीं कश्मीर में इंसानों का कत्ल किया गया. जी हाँ कल बकरीद के दिन कश्मीर में जहाँ 3 पुलिसवालों की बेरहमी से हत्या की गयी वहीं 1 भाजपा कार्यकर्ता को भी मार डाला गया. राज्य पुलिस ने कहा कि पुलवामा जिले के लौसवानी गांव में आतंकवादियों ने अपराह्न् में कांस्टेबल मोहम्मद याकूब पर गोलीबारी की. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “घायल पुलिसकर्मी को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई.”

कश्मीर के लौसवानी गांव का मोहम्मद याकूब शाह भी ईद मनाने के लिए छुट्टी पर घर आया था लेकिन आतंकियों ने उसे भी गोली मार दी. हालांकि गोली की आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंच गए. भीड़ को देखकर आतंकवादी भाग गए, उस वक्त मोहम्मद याकूब की सांसे चल रही थी. उसे हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन रास्ते में मोहम्मद याकूब शाह की मौत हो गई. पुलिस ने कहा है कि याकूब की हत्या के पीछे भी हिजबुल के आतंकियों का ही हाथ है. इसके अलावा एक दूसरी घटना दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में हुई.  जम्मू कश्मीर पुलिस के कॉनस्टेबल फयाज अहमद शाह के घर में ईद की खुशी की जगह मौत का मातम था क्योंकि ईद की नमाज पढ़ने के लिए घर से निकले फैय्याज अहमद की लाश घर वापस पहुंची. फैय्याज अहमद तलवाड़ा में रिक्रूटमेंट ट्रेनिंग कोर्स कर रहे थे, ईद के मौके पर छुट्टी लेकर जारीपोरा में अपने घर आए थे तथा घर वालों के साथ ईद सेलिब्रेट कर रहे थे. सुबह नमाज पढ़ने पास की मस्जिद में गए थे. जब वो मस्जिद से लौट रहे थे उसी वक्त आतंकियों ने उन्हें घेर कर मार डाला.

जानकारी मिली है कि 34 साल के फैय्याज पर जब हमला हुआ उस वक्त वो निहत्थे थे.  उनकी मौत की खबर सुन कर परिवार वाले बेहाल हो गए उनका रो रो कर बुरा हाल था. फय्याज के घर में उनकी मां, पत्नी और दो छोटी छोटी बेटियां हैं, एक बेटी की उम्र पांच साल है दूसरे की दो साल. जम्मू कश्मीर पुलिस ने भी आज पूरे सम्मान के साथ फैय्याज को आखिरी विदाई दी. फैय्याज को आखिरी सलामी देने का बाद उन्हें सुपुर्दे खाक किया गया. जम्मू कश्मीर पुलिस ने बताया कि फैय्याज को मारने के पीछे हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों का हाथ है. बुधवार को ही इससे पहले शोपियां जिले के जज्रीपोरा गांव में आतंकवादियों ने एक अन्य पुलिसकर्मी की हत्या कर दी थी.

Share This Post