Breaking News:

यूपी के बाद अव बिहार में टूट की कगार पर महागठबंधन.. जीतनराम मांझी ने तेजस्वी यादव को लेकर कही ऐसी बात कि राजनैतिक गलियारों में मची खलबली

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी तथा भारतीय जनता पार्टी को दोबारा केंद्र की सत्ता में आने से रोकने के लिए लोकसभा चुनावों से पहले विपक्षी पार्टियों ने महागठबंधन बनाये लेकिन देश की जनता ने इन महागठबंधन पार्टियों को खारिज कर दिया तथा मोदी जी को दोबारा केंद्र की सत्ता सौंप दी. चुनावों से पहले जिस तरह महागठबंधन बने थे, चुनाव बाद वैसे ही महागठबंधन बिखरने भी लगे हैं.

चर्चा थी कि अखिलेश की सपा में वापसी करेंगे शिवपाल यादव.. जिस पर अब आया शिवपाल का बयान

आपको बता दें कि यूपी में सपा बसपा के अलगाव के बाद अब बिहार में भी महागठबंधन में फूट पड़ती हुई नजर आ रही है. हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) के मुखिया और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. मांझी ने लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की हार का ठीकरा तेजस्वी पर फोड़ा है. साथ ही तेजस्वी के सियासत से गायब होने पर उन्होंने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव में शून्य सीट पाने से सदमे में हैं.

जम्मू-कश्मीर में जारी है इस्लामिक आतंकियों का खात्मा.. आज फिर हिन्द की सेना ने जहन्नुम पहुंचाए दो इस्लामिक आतंकी

बिहार के पूर्व सीएम मांझी ने ये भी कहा है कि तेजस्वी यादव की उम्र अभी बहुत कम है और वो लालू यादव और मेरे जैसे परिपक्व नहीं हैं. लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद तेजस्वी यादव के गायब होने से जुड़े सवाल पर जीतनराम मांझी ने कहा कि चुनाव में हार के बाद तेजस्वी सदमे में तथा रिफ्रेश होने के लिए तेजस्वी किसी रिश्तेदार के यहां गए होंगे. बता दें कि, पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव लोकसभा चुनावों में अपनी पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद से ‘गायब’ चल रहे हैं.

ममता राज में जारी है बीजेपी कार्यकर्ताओं का कत्लेआम.. अब बीजेपी महिला कार्यकर्ता की गोली मारकर ह्त्या

28 मई को अपनी मां और पूर्व सीएम राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर लोकसभा चुनाव नतीजों को लेकर हुई समीक्षा बैठक में उपस्थिति के बाद से तेजस्वी लगातार ‘लापता’ हैं. तेजस्वी कहां हैं ये किसी को नहीं पता. 2 जून को राबड़ी देवी द्वारा दी गई इफ्तार पार्टी से वह नदारद रहे थे. इसके बाद वह 11 जून को पिता लालू प्रसाद के 72वें जन्मदिन पर भी वह कहीं नहीं दिखे. लालू के जन्मदिन को पार्टी कार्यकर्ता ‘अवतरण दिवस’ के रूप में मनाते हैं और इस मौके पर तेजस्वी की गैरमौजूदगी से पार्टी नेता भी हैरान थे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW