रवि और सन्नी को पहले अपनी बस्ती में मारा, फिर उनके घर में घुसकर मारा.. जब पुलिस बचाने आयी तो पुलिस को भी मारा… मुस्लिम बहुल बस्ती का ये हाल

आखिर वो कौन सी सोच है जो आये दिन किसी न किसी बहाने से दहशत फैलाने का प्रयास करती रहती है, खून खराबा करती रहती है? कभी ये सोच धार्मिक स्थलों में हमले करके निर्दोषों की जान लेती है तो कभी ये सोच मजहबी उन्माद से प्रेरित होकर गैर अपने समुदाय के लोगों को निशाना बनाती है. यहाँ तक कि ये सोच राष्ट्र सेवक पुलिस के जवानों तक को नहीं छोडती. आखिर क्यों ये सोच समाज में दहशत फैलाना चाहती है तथा लोगों ने बीच नफरत की दीवार खड़ी कर देती है?

इसी आक्रान्ताई सोच का शिकार झारखण्ड का जमशेदपुर हुआ है जहां गोलमुरी मुस्लिम बस्ती और टुइलाडुंगरी के दो समुदायों के बीच मंगलवार रात 10 बजे हिंसक झड़प हो गई, जिसे नियंत्रित करने पहुंची पुलिस पर मुस्लिम बस्ती से जमकर पथराव हुआ. इसमें गोलमुरी थाना प्रभारी रामजी महतो, सात पुलिसवाले सहित 12 लोग घायल हो गए.उपद्रवियों को नियंत्रित करने में पुलिस को तीस मिनट लग गए. टुइलाडुंगरी और मुस्लिम बस्ती में भारी संख्या में फोर्स को तैनात कर दिया गया है. घटनास्थल पर एडीएम लॉ एंड आर्डर सुबोध कुमार, एसडीओ माधवी मिश्रा, सिटी एसपी प्रभात कुमार सहित अन्य अधिकारी मौके पर देर रात तक मौजूद थे. बाद में एसएसपी भी पहुंचे. घटनास्थल पर सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान गुरुमुख सिंह मुखे भी पहुंचे.

खबर के मुताबिक, रात 10 बजे टुइलाडुंगरी रोड नम्बर एक निवासी रवि सिंह और सन्नी सिंह गोलमुरी बाजार से लौट रहे थे. मुस्लिम बस्ती में ओवरटेक करने में सामने से आ रहे एक समुदाय के युवक की बाइक से टक्कर हो गई. मौके पर रवि और सन्नी को पीट दिया गया. वे लोग जब भागकर घर पहुंचे तो पीछे-पीछे लोगों की भीड़ पथराव करते हुए दौड़ पड़ी. सन्नी को उसके घर के पास भी पीटा गया. सूचना मिलने पर पहले गोलमुरी पुलिस पहुंची, जिसपर मुस्लिम बस्ती से आई भीड़ ने पथराव कर दिया. पथराव में थाना प्रभारी का सिर फट गया. उस वक्त फोर्स काफी कम थी, जिसका फायदा उठाकर उपद्रवी चेहरे को रुमाल से बांधकर पुलिस पर लगातार पथराव करते रहे. इसी बीच मौके पर क्यूआरटी पहुंच गई। क्यूआरटी के जवानों ने मुस्लिम बस्ती के लोगों को खदेड़ा तो वे लोग गलियों में घुसकर पुलिस पर पथराव करने लगे. एक घर से पुलिस पर लकड़ी का बड़ा पटरा फेंक दिया गया, जिससे क्यूआरटी जवान के पैर में चोट लगी. लगभग दस मिनट तक पुलिस पर पथराव होता रहा. अंतत: पुलिस जब गलियों में घुसकर उपद्रवियों को पीटने लगी तो वे भागे. पुलिस पर पथराव करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW