Breaking News:

बहुत इज्जतदार महिला समझते थे शायदा बीबी को.. लेकिन वो क्या थी जब पता चला तो सारा शहर ही सहम गया

शायदा बीबी… सब लोग कहते थे कि वह बहुत अच्छी है, सब उसका बहुत सम्मान करते थे. लेकिन वो क्या थी वही जानती थी.. लेकिन जब उसके बारे में सब लोग जाने तो हैरत में पड़ गये. किसी को विश्वास ही न हुआ कि शायदा बीबी ऐसा कर सकती है लेकिन शायदा तो शायदा ठहरी और हसन चिकना के करीबी की पत्नी तो उसकी सोच का अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल था. शायदा बीबी को मौक़ा मिला और हसन चिकना के साथ मिलकर उसने सिविल लाइन्स शाखा की यूको बैंक में डाका डाला तथा 17 बड़े लॉकर तोड़कर करोड़ों रूपये लूट लिए. 

यूको बैंक डकैती में रविवार को सिविल लाइंस पुलिस ने झारखंड में दबिश देकर आखिरकार शायदा बीबी को गिरफ्तार कर लिया. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने झारखंड पुलिस की मदद से लाखों कीमत के गहने बरामद किए हैं.  उसके घर से 1.037 किलोग्राम सोना व 1.370 किलोग्राम चांदी पुलिस ने बरामद किया है. बता दें कि यूको बैंक डकैती का मास्टर माइंड हसन चिकना को नवी मुंबई में गिरफ्तार हुआ था. झारखंड पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर बोकारो ले गई और कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया. सिविल लाइंस बोकारो पहुंची और हसन चिकना से यूको बैंक में 17 लाकर काटकर करोड़ों के गहने उड़ाने के मामले में पूछताछ की. पूछताछ के आधार पर हसन चिकना के साथी की पत्नी की तलाश में पुलिस ने छापेमारी की तथा पुलिस ने शायदा बीबी को गिरफ्तार कर लिया.

हसन चिकना, शायदा बीबी तथा लाखों के गहने बरामद होने के बाद अब पुलिस इस गैंग से जुड़े अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी है. हसन चिकना के तीन साथी अभी तक पकड़े नहीं गए हैं. पुलिस को यकीन है कि उनके पकड़े जाने पर बाकी गहनों की बरामदगी होगी. बता दें कि सिविल लाइंस में यूको बैंक की मुख्य शाखा में 29 अप्रैल 2018 में रात हसन चिकना अपने साथियों के साथ डकैती डाली थी. बैंक के पीछे की खिड़की की ग्रिल काटकर अंदर घुसे बदमाशों ने सीसीटीवी कैमरे व स्मोक अलार्म के तार काट दिए थे. इसके बाद गैस कटर की मदद से बैंक के लॉकर तक पहुंच गए. बदमाशों ने बैंक के 17 बड़े लॉकर काटकर करोड़ों की डकैती को अंजाम दिया था.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW