नाम था सिकंदर लेकिन उसको सब कहते थे बाबा… और वो बच्ची उसकी पोती की उम्र की थी… लेकिन फिर एक दिन

उसका नाम सिकंदर उर्फ़ हजरत था, उसकी आयु 60 साल थी. उसने चोला पहिन लिया तांत्रिक का तथा झाड़-फूंक करने लगा. लोग उसे बाबा कहने लगे तथा वह झाड-फूंक करके लोगों की परेशानी आदि दूर करने की बात कहने लगा. लोग उसके पास अपनी समस्याएं लेकर आते थी. वो नाबालिग उसकी पोती की उम्र की थी. उस मासूम के परिजनों को लगता था कि बाबा उनकी परेशानी दूर करेगा लेकिन असल में वो बाबा नहीं दरिंदा था. बाबा के वेश में छिपे सिकंदर ने अपनी पोती की उम्र की बच्ची के बचपन को अपनी हवस से रौंद डाला.

मामला झारखण्ड के रांची का है . खबर के मुताबिक़, 17 साल की एक नाबालिग के अपहरण मामले में 60 वर्ष के झाड़-फूंक करनेवाला शख्स सिकंदर उर्फ हजरत को जगन्नाथपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं उसकी निशानदेही पर लड़की को अहमदाबाद से 120 किमी. दूरी मोढ़ापा से बरामद कर सोमवार को रांची लाया गया. इस मामले में पुलिस ने बताया कि हटिया क्षेत्र में रहनेवाला सिकंदर झाड़-फूंक करने के लिए नाबालिग के घर गया था. फिर एक दिन उसने लडकी को अपने अड्डे बुलाया तथा वहां पर उसने लड़की को पानी में कुछ नशीला पदार्थ डालकर पिलाया. फिर बस से उसे जमशेदपुर ले गया. वहां से ट्रेन से उसे गुजरात के अहमदाबाद ले जाया जा रहा था. रास्ते में लड़की को होश आया, तो वह रोने लगी. लेकिन सिकंदर ने उसे समझा-बुझाकर यह कहते हुए चुप करा दिया कि उसे ईद के बाद वापस उसके घर पहुंचा देगा. अहमदाबाद में ट्रेन से उतरने के बाद लड़की को करीब 120 किमी दूर मोढ़ापा नामक स्थान पर ले जाया गया.

वहां पर उसने अपने एक परिचित के यहां लड़की को रख दिया. फिर खुद वापस रांची आ गया. जांच के बाद जब पुलिस सिकंदर को पकड़कर लायी और उससे कड़ाई से पूछताछ की गयी, तो उसने अपना जुर्म कबूल किया. फिर उसकी निशानदेही पर लड़की को रांची पुलिस ने गुजरात पुलिस के सहयोग से बरामद किया. फिलवक्त लड़की काफी डरी-सहमी है. इसलिए पुलिस भी अभी उससे बहुत ज्यादा जानकारी नहीं ले पायी है. लेकिन पता चला है कि सिकंदर तथा उसके साथियों ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म को अंजाम दिया है. पुलिस का कहना है कि बच्ची का मेडिकल कराया गया है, रिपोर्ट आने के बाद ही पुलिस अपनी कार्यवाही करेगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW