गोवंश खेत में गया तो मोहम्मद मोबीन ने काट डाले उसके चारौ पैर… योगी की सत्ता को कट्टरपंथ को खुली चुनौती

मोहम्मद मोबीन किसी भी हालात में गोहत्या करने पर आमादा था लेकिन स्थानीय हिन्दुओं की गोरक्षा तथा धर्म के प्रति सजगता तथा योगी की पुलिस की गोहत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई से वह अपने नापाक इरादों को अंजाम तक नहीं पहुंचा पा रहा था. लेकिन मोहम्म मोबीन के दिल में हिन्दू तथा गोमाता के प्रति नफरत कम होने का नाम नहीं ले रही थी. हिन्दू तथा हिन्दू आस्थाओं के प्रति अपने नफरत मैं मोबीन वो कर बैठा जिसकी कल्पना तक नहीं की जा सकती। जिहादी मोहम्मद मोबीन ने डेढ़ वर्षीय गोवंश के चारौ पैर काट दिए.

मामला उत्तर प्रदेश के फैज़ाबाद जिले का है. खबर के मुताबिक, फैज़ाबाद के खण्डासा थाना क्षेत्र के कोटिया गांव में 31 अक्टूबर की शाम किसान मोहम्मद मोबीन पुत्र मेहंदी हसन के खेत में गोवंश चला गया. जिसके बाद मोबीन ने फसल को बटाई पर बोने वाले अपने साथी के साथ गोवंश को गांव के पश्चिम में स्थित जंगल में ले गया और वहां उसका पैर काट दिया। पुलिस को दी गई तहरीर में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अमर बहादुर सिंह पुत्र वीरेंद्र बहादुर सिंह ने कहा है कि इस घटना को गांव के तमाम चरवाहों ने देखा है. उनके अनुसार गांव की महिलाओं ने गोवंश को जंगल में ले जाते हुए देखा है. घटनास्थल पर पहुंचे थानाध्यक्ष खंडासा अवनीश कुमार चौहान ने बताया कि आरोपी लोगों को हिरासत में ले लिया गया है और उनके खिलाफ गोवंश निवारण अधिनियम में मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है.

घायल पशु को लेकर पुलिस अमानीगंज विकासखंड के रामपुर गौहनिया स्थित गौशाला में छोड़ने गई जहां उन्हें ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा। लिखित में पूरा मामला देने के बाद ग्राम प्रधान गुरुदीन रावत ने घायल गोवंश को गौशाला में रखा है. ग्राम प्रधान रामपुर गौहनिया गुरुदीन रावत ने बताया कि घायल गोवंश की हालत गंभीर है तथा उसके चारों पैर कटे हुए हैं. वह चलने फिरने में असमर्थ है. घटना की सूचना मिलने के बाद बड़ी संख्या में लोग थाना खंडासा पहुंच गए तथा जिहादी मोहम्मद मोबीन के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की मांग की.

Share This Post