अभी भी अशांत है कश्मीर…अब कांग्रेस उसी राह पर ले जा रही कर्नाटक को

एकतरफ वैसे ही देशद्रोही ताकतें अनेक प्रकारों से देश की एकता तथा अखंडता को को ख्नादित करने का प्रयास कर रही हैं देश को तोड़ने का षड्यंत्र रच रही हैं इसी बीच देश की सबसे पुरानी कांग्रेस पार्टी ने सिर्फ वोट बैंक के लिए देश को गर्त में धकेलने की नई तैयारी कर ली है. सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने कर्नाटक राज्य के लिए अलग झंडा तैयार कर लिया है. सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर कांग्रेस पार्टी देश को किस ओर ले जाना चाहती है? पूर्व में भी देश को खंडित करवा चुकी कांग्रेस क्या एक बार से देश का बंटवारा चाहती है जो उसको राष्ट्रध्वज तिरंगा के होते हुए कर्नाटक के लिए अलग झंडे की जरुरत पड़ गयी. क्या कर्नाटक के मुख्यमंत्री को तिरंगे को सलामी देते समय गर्व नहीं होता जो अलग झंडा चाहिए?

देश का एक अहम् राज्य जम्मू-कश्मीर के वर्तमान हालात क्या हैं ये पूरा राष्ट्र जानता है और इसकी जिम्मेदार भे कांग्रेस पार्टी ही है. कांग्रेस पार्टी ने ही जम्मू कश्मीर को अलग झंडा की मान्यता दी और वो कश्मीर आज आये दिन देश से अलग होने अपनी आजादी की मांग करता रहता है. एक तरफ जहाँ देश के लोग “एक देश एक कानून एक ध्वज” की मांग कर रहे हैं वहीं कांग्रेस पार्टी ने कर्नाटक के लिए अलग झंडा बना लिया है जो कांग्रेस की देश को तोड़ने की कर्नाटक को देश का कश्मीर बनाने की एक साजिश है. ज्ञात हो कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने राज्य का नया झंडा तैयार किया है जिसे अब केंद्र के पास मंजूरी को भेजा जायेगा.

कांग्रेस को याद होना चाहिए कि हिन्दुस्तान में एक ध्वज हो एक कानून हो इसके लिए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अपने प्राणों का बलिदान दे दिया लेकिन कांग्रेस पार्टी उस बलिदान को भुलाकर सिर्फ अपनी तुच्छ राजनीति के लिए कर्नाटक राज्य को भी देश से अलग करने पर तुली है और देश का जिम्मेदार राष्ट्रवादी नागरिक कांग्रेस की इस मंशा को कभी स्वीकार नहीं करेगा.

आज कर्नाटक का लग झंडा मंजूर होगा, कल तमिलनाडु का होगा फिर देश के अन्य सभी राज्य अपने लिए अलग झंडा बनायेंगे तो कांग्रेस को बताना चाहिए उस समय राष्ट्रध्वज तिरंगे की क्या महत्ता रह जायेगी? कसारे राज्यों के अलग अलग झंडे होंगे उस समय क्या देश एक तिर्न्ह्गे के नीचे आ पायेगा, क्या देश की एकता कायम रह पायेगी? देश की जनता को ये समझना चाहिये कि कांग्रेस पार्टी सिर्फ अपनी राजनीति के लिए देश को तोड़ने की जो साजिश रच रही है लेकिन उसको कामयाब नहीं होने देना है.

Share This Post