मंत्री के आगे खुली चुनौती- “इस बकरीद को काटेंगे गाय” .. अभी हाल ही में धर्मनिरपेक्ष समाज ने वोट देकर बनवाई थी वो सरकार

कर्नाटक में कुमारस्वामी के नेतृत्व में जेडीएस तथा कांग्रेस गठबंधन की सरकार आने के बाद से ही हिन्दुओं पर अत्याचार हो रहे हैं. एकतरफ जहाँ गौरी लंकेश हत्याकांड में हिन्दुओं को गिरफ्तार कर अंतहीन प्रताड़ना दी जा रही है तो वहीं अब कर्नाटक के एक मौलाना ने एलान कर दिया है कि आने वाले बकरीद पर राज्य में गाय कटी जाएगी तथा कोई रोक नहीं पायेगा. मौलाना की ये सीधी चुनौती है उन धर्मनिरपेक्ष लोगों के लिए जिन्होंने अपना वोट देकर राज्य में कांग्रेस तथा जेडीएस की सरकार बनवाई.

आश्चर्य की बात ये है कि जब मौलाना ये भाषण दे रहा था तथा कह रहा था बकरीद पर गाय कि कुर्बानी दी जाएगी उस समय राज्य सरकार में कांग्रेस पार्टी के मंत्री शिवानंद पाटिल भी बैठे हुए थे. उत्तरी कर्नाटक के विजयपुरा में रमजान की नमाज के दौरान राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री शिवानंद पाटिल की मौजूदगी में दो दिन पहले तनवीर हाशमी ने कथित तौर पर यह बयान दिया. हाशमी विजयपुरा के हाशिम पीर दरगाह के प्रमुख हैं. इस कथित बयान का वीडियो वायरल हो रहा है. एक मंत्री की मौजूदगी में एक मौलवी कानून व्यवस्था को सीधे चुनौती देते हुए गाय काटने की धमकी देता है और मंत्री इसका विरोध तक नहीं कर पाते तो समझा जा सकता है कि राज्य में जिहादियों के हौसले किस कदर बुलंद हैं.

मौलवी हाशमी इतनी बड़ी बात कह गया और मंत्री ने कोई टिप्पणी नहीं की. हाशमी ने उर्दू में कहा , ‘ मैं आपके संज्ञान में लाना चाहता हूं कि दो माह में बकरीद आने वाला है. गाय के नाम पर यह शैतान शरारत करेगा. मंत्री जी! में आपको पहले ही बता देना चाहता हूँ कि गाय की तो कुर्बानी होगी लेकिन गाय के साथ किसी और कि कुर्बानी न हो, ये जिम्मेदारी आपकी है.

Share This Post