रहीम के बाद अब कफ़ील का नम्बर.. पुलिस के डर से भागा कातिल कफ़ील, पड़ रहे ताबड़तोड़ छापे

भारत की एक तथाकथित मीडिया समाज हर मुद्दे में एक मुस्लिम को हीरो ढूंढ लेता है। मीडिया के प्रथम ट्रायल में ही कफील को हीरो बना दिया गया था। पर हीरो के खाल में छुपा हुआ विलेन था। कफील ने साजिश के तहत बच्चों की जान ली। कफील जब बच्चे मर रहे थे और साथी डॉक्टर उनकी जान बचाने में लगे थे उस वक़्त ये भेड़िया मीडिया को फोटो खिचाने में व्यस्थ था।

उत्तर प्रदेश पुलिस जब कफील को पकड़ने गई तो कफील फरार मिला। अगर कफील इतना ही सच्चा है तो उसे पुलिस का कानून सामना करना चाहिए था। जिसके मन में चोर होता है वो हमेशा सच का सामना करने से डरता है। इन पर कुल 7 धाराओं में तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आपको बता दे कि कफील पर एफआईआर दर्ज है।
आईपीसी की धारा 409,308,120B,420 भष्टाचार निवारण अधिनियम धारा 8 पर FIR इंडियन मेडिकल काउंसिल एक्ट 1956 की धारा 15 आईटी एक्ट 2000 की धारा 66 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इस एफआईआर में ऑक्सीजन सप्लाई प्रभावित होने का भी जिक्र है।  
Share This Post

Leave a Reply