पवित्र सबरीमाला की प्राचीन परंपरा भंग करने वाली महिला का उसके परिवार ने छोड़ा साथ.. साथ ही उन्होंने भी जो बता रहे थे उसे बहादुर

सनातन विरोधी ताकतों के हाथों खेलकर केरल के पूज्य सबरीमाला मंदिर की परंपरा भंग करने वाली महिला कनकदुर्गा के खिलाफ खुद उसका ही परिवार खड़ा हो गया है. इससे पहले खबर मिली थी कि सबरीमाला मंदिर में घुसने वाली कनकदुर्गा की उसकी सास ने पिटाई की थी तो अब खबर मिली है कि न सिर्फ ससुराल वाले बल्कि उसके मायके वाले भी कनकदुर्गा के खिलाफ खड़े हो गये हैं तथा उससे कह रहे हैं कि वह हिन्दू समाज से माफी मांगे.

खबर मिली है कि कनकदुर्गा को उसके ससुराल वालों ने घर से बाहर निकाल दिया है. घर से बाहर निकाले जाने के बाद कनकदुर्गा को एक संस्था की ओर से शेल्टर होम भेजा गया है. मंदिर में प्रवेश के बाद कनकदुर्गा के भाई भरत ने भी उससे किनारा कर लिया है तथा कहा है कि उसे घर में आने की इजाजत नहीं है. कनकदुर्गा के भाई ने कहा हैं कि यदि वह घर में लौटना चाहती है तो उसे पहले भगवान अयप्पा के अनुयायियों और हिंदू समाज से माफी मांगनी पड़ेगी. कनकदुर्गा के भाई तथा उसके ससुराल वालों ने साफ़ कर दिया है कि जब तक कनक भगवान अयप्पा के भक्तों तथा हिन्दू समाज से माफी नहीं मांगती है, वह उसको घर में नहीं घुसने देंगे.

Share This Post