केजरीवाल पर कपिल ने फोड़ा नया ‘आरोप बम’, इस बार लगाया स्वास्थ्य विभाग में घोटाले का आरोप

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के निष्कासित मंत्री कपिल मिश्रा ने पार्टी से निकलने के बाद से अभी तक कई अहम खुलासे किए है। कई खुलासे करने के बाद आज फिर कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर एक और नया आरोप लगाया है। बता दें इससे पहले भी कपिल मिश्रा द्वारा आम आदमी पार्टी पर कई आरोप लगाए गए हैं और मुख्यमंत्री केजरीवाल किसी भी आरोप को झुटला नहीं पाए है। इस बार भी कपिल मिश्रा ने सत्येंद्र जैन पर सीधे निशाना साधते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्वास्थ्य विभाग में 300 करोड़ के घोटाले समेत तीन बड़े आरोप लगाए हैं। जिसमे स्वास्थ्य विभाग पर दवा खरीद, एम्बुलेंस खरीद और ट्रांसफर पोस्टिंग शामिल हैं। 
साथ ही उन्होंने कहा कि इस घोटाले का सीधा फायदा अरविंद केजरीवाल, सत्येन्द्र जैन और तरुण सीम को हुआ है। दवा की खरीद पर आरोप लगाते हुए कपिल मिश्रा का कहना है अगर स्वास्थ्य विभाग में घोटाला नहीं हुआ है तो अस्पतालों में आज दवाइयां क्यों नहीं है? जिन दवाइयों की अस्पताल को जरूरत नहीं थी वो दवाइयां खरीद कर रख ली गईं। मिश्रा का कहना है कि डेंगू और चिकनगुनिया के नाम पर केजरीवाल ने दबाव देकर छह महीने की दवाइयां एडवांस ख़रीदवाई। फिर तरुण सीम ने अस्पतालों को दबाव डालकर दवा ले जाने को कहा और कहा कि अगर अस्पतालों ने ऐसा नहीं किया तो कार्रवाई की जाएगी। कपिल मिश्रा ने यह दावा करते हुए कहा कि सरकारी अस्पतालों में जरूरत से ज्यादा दवाएं होने के बाद भी मरीजों को दवाओं की कमी का सामना करना पड़ता है।
इसके बाद एम्बुलेंस खरीद के घोटाले का खुलासा करते हुए कपिल मिश्रा ने बताया दिल्ली सरकार ने 100 कैट्स की एंबुलेंस खरीदी और हर एक एम्बुलेंस का दाम करीब 23 लाख रुपए बताया। जबकि सरकार ने टाटा कंपनी को हर एक एम्बुलेंस के लिए करीब 9 लाख रुपए दिए और 2.50 लाख रुपये का इक्विपमेंट्स उस एम्बुलेंस में लगाया। इस हिसाब से सरकार ने एम्बुलेंस के नाम पर करीब 120 करोड़ रुपए का घोटाला किया। 
इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग में नियम-कानून तोड़ने का आरोप लगाते हुए कपिल मिश्रा ने कहा कि 30 एमएस की नियुक्ति सत्येंद्र जैन ने की और जूनियरों को एमएस का पद दिया गया। इन मामलों में एलजी से पूछताछ करनी चाहिए। आखिर में मिश्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी में जानबूझकर सत्येंद्र जैन के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है, ताकि मुख्यमंत्री को आरोपों से बचाया जा सके।   
Share This Post