केरल के हिन्दुओं पर वामपंथी शासन का कहर.. 4 हजार से भी ज्यादा हिन्दू गिरफ्तार, लेकिन बोले- “जान भी हाज़िर है सबरीमाला के लिए”

सबरीमाला मंदिर की पवित्रता तथा सम्मान बचाने वाले हिन्दुओं पर केरल की वाम्प्न्थीए सरकार कहर टूट रही है. दो दिन में केरल की वामपंथी विजयन सरकार 4 हजार से ज्यादा हिन्दुओं को गिरफ्तार कर चुकी है, जिन्होंने सबरीमाला मंदिर की पवित्रता को बचाने के लिए प्रदर्शन किया. हालाँकि केरल सरकार की इस दमनात्मक कार्यवाई के बाद भी केरल के हिन्दुओं ने एलान कर दिया है कि वह इससे डरने वाले नहीं हैं. केरल के हिन्दुओं का कहना है कि सबरीमाला को बचाने के लिए इस धर्मयुद्ध में वह जान भी देने को तैयार है लेकिन सबरीमाला की पवित्रता, सम्मान को कभी भंग नहीं होने देंगे.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मंदिर पांच दिनों तक खुले रहने के बाद सोमवार को एक महीने के लिए बंद कर दिया गया लेकिन हिन्दू समाज के लोगों के विरोध के कारण एक भी महिला मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकी. इसपर केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने विरोध प्रदर्शन को ‘योजनाबद्ध’ और ‘जानबूझकर’ केरल में तनाव का माहौल पैदा करने की कोशिश करार दिया. उन्होंने इस हिंसा के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को दोषी ठहराया. केरल सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के सामने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह इस फैसले को लागू ​करेगी.

खबर के मुताबिक़, केरल पुलिस ने करीब 210 लोगों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है और करीब 2000 लोगों पर केस दर्ज किया है. बुधवार और गुरुवार को एरनाकुलम ग्रामीण, त्रिपुनितुरा कोझिकोढे, पालक्कड़, थ्रिसूर, कोट्टयाम और अलप्पुझा क्षेत्रों से लोगों को गिरफ्तार किया गया. शुरुआती कार्यवाई में दो हजार से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी की गयी थी, इसके बाद अब तक 4 हजार से ज्यादा लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. बता दें कि 17 अक्टूबर को सबरीमाला मंदिर में ‘रजस्वला’ आयुवर्ग की महिलाओं के प्रवेश संबंधी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हिन्दू समाज के लोग मंदिर की पवित्रता को बचाए रखने के लिए प्रदर्शन किये थे.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share