Breaking News:

सबरीमाला के ही बगल एक मस्जिद में जाने की कोशिश करती दो महिलाओं को वामपंथी सरकार ने कराया गिरफ्तार

पूज्य सबरीमाला मंदिर की पवित्रता तथा परंपरा को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हिन्दू समाज पर कहर ढहा रही केरल की वामपंथी सरकार का दोहरा रवैया सामने आया है. एक तरफ़ केरल की वामपंथी सरकार ने सबरीमाला मंदिर में हफ्ते भर पहले दो महिलाओं को चुपके से मंदिर में प्रवेश करवा के मंदिर की लगभग 800 साल पुरानी परम्परा को तहस-नहस कर दिया तो दूसरी तरफ मस्जिद में घुसने का प्रयास कर रही तीन महिलाओं और पुरुषों को अरेस्ट कर लिया गया.

मस्जिद में घुसने वाली महिलाओं को अरेस्ट करवाने के बाद सवाल यह उठता है कि केरल की वामपंथी सरकार एक तरफ हिन्दू मंदिर में जबरदस्ती महिलाओं को इंट्री करवा रही है, केरल की वामपंथी सरकार किसी भी हालात में हिन्दू आस्थाओं को कुचलने पर आमादा है लेकिन दूसरी तरफ जो महिलायें मस्जिद में जाना चाह रही हैं, उनको गिरफ्तार करवा रही है, आखिर क्यों? आखिर क्यों केरल सरकार हिन्दुओं की आस्थाओं को कुचलने के लिए पूरे ताकत लगाये हुए है तो इस्लामिक आस्थाओं को बचाने के लिए महिलाओं को गोर्फ्तर करवा रही है?

जानकारी के अनुसार, केरल पुलिस ने केरल के एरमुली से तीन पुरुष और तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है. केरल पुलिस ने आरोप लगाया है कि गिरफ्तार किये गए तीनों महिलाओं और पुरुष एरमुली के मस्जिद में प्रवेश करने की योजना बने रहे थे. अगर ये महिलाएं मस्जिद में प्रवेश करती तो साम्प्रदायिक हिंसा भड़कती. केरल सरकार ने एकतरफ हिंसा बचाने के लिए मस्जिद में महिलाओं को प्रवेश करने से रोक दिया तो वहीं दूसरी तरफ सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को चुपके से प्रवेश कराया और फिर हिंसा भड़क उठी. केरल सरकार के इस रवैये के बाद पहले से ही आक्रोशित हिन्दू समाज और अधिक भड़क उठा है.

Share This Post